वॉशिंगटन। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump)की नई सोशल मीडिया फर्म ने दावा किया है कि उसने स्टॉक मार्केट लिस्टिंग से पहले निवेशकों से 1 बिलियन डॉलर यानी 75 अरब रुपये (75 अरब 13 करोड़ 46 लाख 55 हजार 500 रुपये )जुटाने के समझौते कर लिए हैं। ट्रंप मीडिया एंड टेक्नोलॉजी ग्रुप  (Trump Media & Technology Group) अगले साल की शुरुआत में ट्रुथ सोशल (Truth Social ) नाम का सोशल मीडिया ऐप लॉन्च करने जा रहा है। बता दें यह फैसला ऐसे समय में लिया गया है जब ट्रंप इस साल जनवरी से ही ट्विटर और फेसबुक बैन हैं।यूएस कैपिटल पर हमले के बाद से ही दोनों सोशल मीडिया कंपनियों ने उनके कथित भड़काऊ बयानों के लिए सोशल मीडिया से बैन कर दिया था। ट्रंप मीडिया एंड टेक्नोलॉजी ग्रुप ने कहा, ‘ 1 बिलियन डॉलर इकट्ठा होना बताता है कि  सेंसरशिप और राजनीतिक भेदभाव समाप्त होना चाहिए।’

कंपनी ने कहा- ‘जैसे-जैसे हमारी बैलेंस शीट बढ़ेगी, ट्रंप मीडिया एंड टेक्नोलॉजी ग्रुप बिग टेक (फेसबुक-ट्विटर) के अत्याचार के खिलाफ लड़ने के लिए एक मजबूत स्थिति में होगा।’ ट्रंप ने इस साल की शुरुआत में ट्रुथ सोशल लॉन्च करने की योजना की घोषणा करते हुए कहा था कि यह ‘राजनीतिक विचारधारा के आधार पर भेदभाव के बिना’ बातचीत का आधार बनेगा। ट्रंप मीडिया एंड टेक्नोलॉजी ग्रुप ने डिजिटल वर्ल्ड एक्विजिशन के साथ इस प्रॉजेक्ट पर भागीदारी की है।

शनिवार को ट्रंप की फर्म ने कहा कि उसने ‘संस्थागत निवेशकों के समूह’ से 1 अरब रुपये हासिल किये। हाालंकि उन्होंने यह नहीं बताया कि यह निवेशक कौन हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, सोशल मीडिया फर्म की वैल्यू अब 4 अरब तक पहुंच गई है। रॉयटर्स के अनुसार कई वॉल स्ट्रीट फर्म्स  पूर्व राष्ट्रपति के नए वेंचर में निवेश करने से बचीं लेकिन कुछ  पारिवारिक निवेश फर्म और अमीर व्यक्तियों ने इसमें मदद की है।

जिस समय उन्हें ब्लॉक किया गया था  तब ट्रंप के ट्विटर पर 89 मिलियन, फेसबुक पर 33 मिलियन और इंस्टाग्राम पर 24.5 मिलियन फॉलोअर्स थे। बीते कुछ दिनों में उन्होंने बार-बार संकेत भी दिए हैं कि वह 2024 में फिर से राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ सकते हैं।