लखनऊ: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार (30 अप्रैल, 2022) को राज्य में बिजली संकट को हल करने के बजाय “कारण बताने” के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की खिंचाई की।

यह भी पढ़े : Shani Gochar : 30 साल बाद कुंभ राशि आए शनि देव, धनु राशि वालों को साढ़े साती से छुटकारा, जानिए सभी राशियों पर प्रभाव


सपा प्रमुख ने ऊर्जा मंत्री एके शर्मा द्वारा दी गई जानकारी का एक अंश ट्वीट किया जिसमें तकनीकी कारणों से कुछ बिजली उत्पादन इकाइयों के बंद होने का खुलासा हुआ। यादव ने खबर साझा करते हुए कहा, 'सरकार का काम समस्या का कारण बताना नहीं बल्कि उसका समाधान करना है।

इससे पहले शुक्रवार को ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने ट्वीट किया था, ''यूपी में कुछ बिजली उत्पादन इकाइयां तकनीकी कारणों से कई हफ्तों से बंद हैं जिनमें हरदुआगंज-660 मेगावाट, मेजा-660 मेगावाट, बारा-660 मेगावाट शामिल हैं. हरदुआगंज-605 मेगावाट भी मौसमी तूफान से क्षतिग्रस्त हो गया। इन्हें ठीक कर युद्धस्तर पर बिजली आपूर्ति शुरू करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़े : Surya Grahan 30 April : ग्रहण काल में गर्भवती महिलाएं रखें ये सावधानियां , ग्रहण के दौरान अपने पास रखें ये चीज


शुक्रवार को भी अखिलेश यादव ने एक बयान में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया था कि प्रदेश की जनता गर्मी और अघोषित बिजली कटौती से झुलस रही है. यादव ने कहा कि पूर्वांचल से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश तक लोगों को परेशानी हो रही है और बढ़ते पारा से बिजली संकट गहराता जा रहा है.