कोरोना वायरस के बाद अब घरेलू बिल्लियां इंसानों की दुश्मन बनने जा रही है। शहरों के आसपास रहने वाले जंगली जीवों में एक पैरासाइट के होने के आसार है। इससे टॉक्सोप्लाज्मोसिस (Toxoplasmosis) नाम की बीमारी होती है। इस पैरासाइट को घरेलू बिल्लियां फैला रही हैं। इसको लेकर वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि घरेलू बिल्लियां टॉक्सोप्लाज्मोसिस का पैरासाइट टॉक्सोप्लाज्मा गोंडी लेकर घूमती है। इनसे वे किसी गर्म-खून वाले जीव या इंसानों को संक्रमित कर सकती हैं।


यह भी पढ़ें— Diwali Bonus: कर्मचारियों को दिवाली से पहले मिलेगा बोनस, जानिए कितनी आएगी सैलरी


इंसानों में टॉक्सोप्लाज्मा गोंडी (Toxoplasma gondii) के जो संक्रमण देखे गए हैं। इनमें से से 30 से 50 फीसदी एसिम्प्टोमैटिक होते हैं। अगर इंसान या जंगली जीव का इम्यून सिस्टम कमजोर है तो यह पैरासाइट क्रोनिक बीमारियां पैदा करताहै। इतना ही नहीं बल्कि इससें मौत भी हो सकती है।

कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया की शोधकर्ता एमी विल्सन ने कहा कि टॉक्सोप्लाज्मा गोंडी (Toxoplasma gondii) इंसानों और जंगली जीवों दोनों के लिए खतरनाक पैथोजन है। यह जीवनभर इंसानों के शरीर में रह सकता है। इससें इंसान या जंगली जीव की मौत हो सकती है।