वॉशिंगटन । सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में भारत और चीन के बीच जारी सैन्य तनातनी पर एक अमेरिकी विशेषज्ञ ने आगाह किया है कि इसका अंजाम युद्ध भी हो सकता है। 

अमेरिकन फॉरन पॉलिसी काउंसिल के स्कॉलर जेफ एम. स्मिथ से न्यू यॉर्क टाइम्स ने जब यह पूछा कि क्या भारत-चीन के बीच जारी गतिरोध युद्ध का रूप भी ले सकता है तो उन्होंने कहा, 'हां, ऐसा हो सकता है और मैं यह पूरी गंभीरता से कह रहा हूं।'

स्मिथ ने कहा, 'दोनों ही पक्ष अड़े हुए हैं और इससे हालात सामान्य होना मुश्किल हो चुका है।' उन्होंने 1962 के भारत-चीन युद्ध की तरफ इशारा करते हुए कहा कि ताजा गतिरोध भी उसी तरह का है जो सीमा विवाद को लेकर था। बता दें कि डोकलाम चीन, भारत और भूटान के त्रिकोण पर स्थित है और यह तीनों ही देशों के लिए रणनीतिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण इलाका है।

भारत और चीन के बीच ताजा गतिरोध जून में शुरू हुआ जब भारतीय सेना ने चीनी जवानों को डोकलाम में सड़क निर्माण से रोक दिया। चीन लगातार भारत से कहता आ रहा है कि वह डोकलाम से अपनी सेना वापस करे और वह इसे अपना क्षेत्र बताता है। दूसरी तरफ नई दिल्ली ने स्पष्ट कर दिया है कि दोनों ही देशों को अपनी-अपनी सेना को वापस बुलाना चाहिए क्योंकि जिस क्षेत्र को लेकर ताजा विवाद हुआ है वह उसके सहयोगी देश भूटान का है। भूटान के चीन के साथ राजनयिक रिश्ते नहीं हैं। उसने भी चीनी सैनिकों द्वारा सड़क निर्माण पर अपना विरोध दर्ज कराया है।