यूपी के अलीगढ़ में एक बच्ची पर 12 खूंखार कुत्तों ने हमला कर उसका बुरा हाल कर दिया। यह घटना अलीगढ़ के क्वारसी थाना क्षेत्र के जीवनगढ़ में हुई जब 7 वर्षीय एक बच्ची घर से सामान लेने जा रही थी तो करीब 10 से 12 आवारा कुत्तों के झुंड ने बच्ची पर बुरी तरह हमला बोल दिया।

बच्ची उनसे बचने को भागी लेकिन कुत्तों की संख्या बढ़ती चली गई और कुत्तों ने बच्ची को जमीन पर गिरा लिया ओर घसीटने लगे जिसके बाद आसपास के लोगों ने जब देखा तो आवारा कुत्तों से बच्ची को बचाने के लिए दौड़े।

किसी तरह बच्ची की जान बच सकी हालांकि बच्ची जख्मी हो गई लेकिन इससे स्मार्ट सिटी के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च करने वाले नगर निगम की पोल खुल गई है। बच्ची पर आवारा कुत्तों के हमले की घटना पास ही लगे सीसीटीवी में कैद हो गई।

सीसीटीवी में जो दृश्य दिखाई दे रहे हैं उसमें एक बच्ची जो सड़क पर जा रही है। जैसे ही वह एक गली के सामने से गुजरती है। आवारा कुत्तों का झुंड उसके ऊपर टूट पड़ता है। पहले 4-5 कुत्ते उसके ऊपर टूटते हैं और फिर कुत्तों की संख्या बढ़ जाती है। कुत्ते बच्ची को घसीटते हुए सड़क के एक कोने से दूसरे कोने तक ले जाते हैं। बच्ची बचने की कोशिश भी बहुत करती है लेकिन कुत्तों की संख्या ज्यादा थी और बच्ची उनके बीच में फंस गई। जैसे ही आसपास के लोगों ने इस घटना को देखा उन्होंने तत्काल उस तरफ दौड़ लगा दी और बच्ची को बचाया।

दरअसल, अलीगढ़ के क्वारसी क्षेत्र के केला नगर की पत्थर वाली गली में रहने वाली 7 वर्षीय मोहम्मद कासिम की बेटी रेशमा सोमवार को अपने घर से कुछ सामान लेने के लिए दुकान पर जा रही थी। तभी आवारा कुत्तों के झुंड ने उस पर हमला बोल दिया। आसपास खड़े लोगों ने दौड़कर कुत्तों के झुंड से बच्ची को बचाया। इसके बाद उसे जिला अस्पताल लेकर गए जहां पर उसको प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया। पूरी की पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई।

इस मामले पर जब नगर निगम के जीवनगढ़ क्षेत्र के पार्षद शाहिद अली से बात की गई तो उन्होंने माना कि उन्होंने कई बार आवारा कुत्तों के बारे में लिखकर नगर निगम को दिया है लेकिन नगर निगम की लापरवाही के चलते आज तक इस समस्या का समाधान नहीं हो सका है।