पश्चिम बंगाल में डाक्टरों के उपर हुई हिंसा के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन(आईएमए) द्वारा सोमवार को आहुत अखिल भारतीय विरोध दिवस के तहत गुवाहाटी मेडिकल काॅलेज अस्पताल (जीएमसीएच) के सभी ओपीडी बंद रहेंगे। सोमवार सुबह 6 बजे से मंगलवार सुबह 6 बजे तक ओपीडी बंद रहेगा। हालांकि आपातकालीन सेवा पहले की तरह जारी रहेगी। जीएमसीएच के डाॅक्टर और प्रोफेसर जीएमसीएच परिसर मे सुबह दस बजे आयोजित विरोध रैली में भाग लेंगे।


गुवाहाटी मेडिकल काॅलेज स्टूडेंट यूनियन के महासचिव सचिन शाह और जीएमसीएच जूनियर डाॅक्टर्स एसोसिएशन के महासचिव डा.दीपांजन गोस्वामी ने कहा है कि बंगाल में डाक्टरों के साथ हुई हिंसा के विरोध में ओपीडी सेवाएं बंद रहेंगी, लेकिन मरीजों की सुविधाओं को देखते हुए आपातकालीन सेवाओं को जारी रखा जाएगा। कई निजी अस्पतालों ने भी ओपीडी सेवाएं बंद रखने की घोषण की है। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों कोलकात्ता के एनआरएस मेडिकल काॅलेज में इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई थी।


इसके बाद बुजुर्ग के परिजनों ने डाॅक्टरों पर लापारवाही का आरोप लगाते हुए उसकी पिटाई कर दी। इस हमले में दो जूनियर डाक्टर बुरी तरह घायल हो गए थे, जिसकों लेकर पूरे देश के डाक्टर इसका विरोध कर रहे हैं और डाक्टरों की सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल में डाक्टरों के साथ हुई इस घटना को लेकर आईएमए की असम शाखा के अध्यक्ष डा. सत्यजीत बोरा ने निंदा की है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों के साथ हिंसा की बढ़ती घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण हैं, लेकिन उससे भी अधिक चिंतनीय इस मामले पर पश्चिम बंगाल सरकार की उदासीन है।