यह सच है कि डॉक्टर्स भगवान का दूसरा रूप माने जाते हैं, लेकिन कई बार उनसे भी लापरवाही हो जाती है। कुछ डॉक्टर्स तो इतने ज्यादा लापरवाह होते हैं कि उनकी करनी मरीजों को भुगतनी पड़ती है। हाल ही में एक ऐसा ही वाकया सामने आया है। एक मरीज बाएं पैर का इलाज करवाने के लिए अस्पताल गया था। लेकिन, डॉक्टर ने उसका गलती से दायां पैर काट दिया।

यह मामला ऑस्ट्रिया का है। यहां डॉक्टर्स ने एक मरीज के गलत पैर का ऑपरेशन कर उसे काट डाला। सारी बात की सच्चाई तब पता चली जब जब नर्स ने अगले दिन मरीज के पैर की ड्रेसिंग शुरू की। ऑस्ट्रिया के फ्रीस्टैंड क्लिनिक में काम करने वाले एक डॉक्टर ने मरीज के गलत पैर की सर्जरी कर दी। मरीज बाएं पैर में दर्द की समस्या लेकर हॉस्पिटल पहुंचा था।

जब नर्स को इस गलती के बारे में पता चला तब उसने हायर अथॉरिटी को इसकी सूचना दी। पूरा मामला जब सामने आया तो अस्पताल ने भी गलती मान ली है। अस्पताल की ओर से बयान भी जारी किया गया। दरअसल, जिस शख्स का पैर काटा गया उसकी उम्र 82 साल है। इस गलती के कारण हुए नुकसान की जिम्मेदारी भी अस्पताल ने उठाने की बात कही।

लेकिन इस गलती का खामियाजा हालांकि बुजुर्ग को भुगतना पड़ रहा है, क्योंकि उनकी समस्या वैसी की वैसी ही है। दर्द वैसा का वैसा है। अब उनका दूसरा पैर भी घुटने के नीचे से काटना पड़ेगा।

इस खबर के बाद से हर किसी के मन में यही सवाल आ रहा है कि आखिर डॉक्टर से इतनी बड़ी गलती कैसे हो गई। इसको लेकर जांच भी जारी है। ऐसा कहा जा रहा है कि ऑपरेशन थियेटर में ले जाने से पहले मरीज के गलत पैर में मार्क लगा दिया गया था, जिसकी वजह से डॉक्टर ने मार्क लगे पैर का ऑपरेशन कर दिया। इसलिए अब मरीज को दोनों पैर के बिना अपना जिंदगी बितानी पड़ेगी।