पहले कोरोना और अब उसके खतरनाक स्वरुप ओमिक्रॉन वैरिएंट से डरे एक डॉक्टर ने ऐसा खौफनाक कदम उठाया का कि पूरा कानपुर दहल उठा। दरअसल अवसाद में आकर डॉक्टर ने अपनी पत्नी, बेटा और बेटी की हथौड़े से हत्या (Kanpur triple murder) कर दी। इसके बाद आरोपी ने अपने भाई को इसकी सूचना दी और उसके पहुंचने से पहले ही फरार हो गया। 

मौके से पुलिस को नोट मिला है, जिसमें आरोपी ने लिखा कि वो एक लाइलाज बीमारी से ग्रस्त हो गया है। ऐसे में वो अपने परिवार को कष्ट में नहीं छोड़ सकता है। सभी को मुक्ति के मार्ग पर छोड़कर जा रहा हूं। सारे कष्ट एक ही पल में दूर कर रहा हूं। अपने पीछे किसी को कष्ट में नहीं देख सकता था। मेरी आत्मा कभी मुझे माफ नहीं करती। सुशील अपने नोट में कोरोना और ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron Variants) का जिक्र किया है। अब लाशें नहीं गिननी हैं, ओमिक्रॉन सबको मार डालेगा। अपनी लापरवाही के चलते उस मुकाम पर फंस गया हूं, जहां से निकलना मुश्किल है।

बता दें कि इंदिरा नगर में डिविनिटी आपर्टमेंट में डॉक्टर सुशील कुमार अपने परिवार के साथ रहते थे। उन्होंने अपने भाई को मैसेज भेजा कि मैंने डिप्रेशन में आकर पत्नी और दोनों बच्चों की हत्या (Kanpur murder) कर दी है। मौके पर पहुंचकर डॉक्टर के भाई ने देखा कि भाभी चंद्र प्रभा के साथ दोनों बच्चों की हत्या हो चुकी थी। पास में खून से सना हुआ हथौड़ा भी पड़ा हुआ था। इस घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। मरने वाले लोगों में पत्नी चंद्रप्रभा (48), बेटा शिखर (18) और डॉक्टर की नाबालिग बेटी 10वीं की छात्रा थी। बताया जा रहा है कि सुशील ने कानपुर के रामा मेडिकल कॉलेज (Rama Medical College) के फॉरेंसिक विभाग में एचओडी है। उन्होंने कानपुर मेडिकल कॉलेज से पढ़ाई की है। हत्याकांड सामने आने के बाद कानपुर पुलिस सुशील को ढूंढने में जुट गई है। वहीं पुलिस फरार डॉक्टर को ढूंढने का प्रयास कर रही है। मौके से पुलिस को एक डायरी भी मिली है, जिसमें डॉक्टर ने हत्या की वजह कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को बताया है।