मकर संक्रांति का त्यौहार आ गया हैं और यह त्यौहार पवित्र नदियों में स्नान करने का हैं। इस दिन लोग गुड़-तिल का दान करते हैं। इस दिन को लेकर ऐसी मान्यता हैं कि गंगा स्नान करने से सभी पाप धूल जाते हैं और दान करने से लाख गुना लाभ प्राप्त होता हैं।

दरअसल इस त्यौहार को स्नान और दान का त्यौहार कहा जाता हैं। बता दें कि सोमवार को पड़ने के कारण इस त्यौहार को ध्वांसी मकर संक्रांति कहा जा रहा हैं और इस दिन गुड़-तिल और खिचड़ी का भोग सूर्य देव को लगाया जाएगा।


यदि आप गंगा सागर जाकर स्नान करते हैं तो आपको 10 अश्वमेध यज्ञ के बराबर और एक हजार गाय के बराबर पुण्य मिलेगा। इस बार प्रयागराज में शाही स्नान का आयोजन किया जा रहा हैं। ऐसे में आप प्रयाग राज में स्नान करके पुण्य प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आप ऋषिकेश या फिर काशी में स्नान करके आप पुण्य प्राप्त कर सकते हैं।


बता दें कि साल 2019 में मकर संक्रांति 14 और 15 जनवरी को मनाया जाएगा। 14 जनवरी को मकर संक्रांति का पुण्य काल का मुहूर्त सुबह 7:15 मिनट से लेकर 12:30 मिनट तक का हैं और 15 जनवरी को महापुण्य काल का मुहूर्त 7:15 मिनट से लेकर 9:15 मिनट तक रहेगा।


मकर संक्रांति के दिन आप चाहे जहां स्नान यानि आप अपने घर या फिर किसी नदी में स्नान करे तो नहाने से पहले आप पानी में त्रिभुज का निशान बना ले और उसके अंदर 'श्रीं' लिख दे, श्रीं यानि देवी माँ लक्ष्मी का मंत्र है। आप श्रीं इंगलिश या हिन्दी दोनों में लिख सकते हैं। इसके बाद पानी में तीन डुबकी लगाते हुये 'गंगे च यमुने चैव गोदावरि सरस्वति। नर्मदे सिंधु कावेरि जलेस्मिन् सन्निधिं कुरु।।' मंत्र का जाप करे। यदि आप अपने घर पर ही स्नान कर रहे हैं तो इस मंत्र को बोल कर तीन मग पानी अपने ऊपर डाल दे।


यदि आप श्रीं नहीं लिख सकते हैं तो आप त्रिभुज के अंदर ॐ लिख दे। इसके अलावा आप इस दिन नहाते समय तिल के उबटन का इस्तेमाल जरूर करे। इतना ही नहीं इस दिन स्नान करके सूर्यदेव का अर्घ्य जरूर दे क्योंकि यह पर्व सूर्य देव का ही हैं। इस उपाय को करने से आपको अपने सभी कर्जो से मुक्ति मिल जाएगी और आपके घर में माँ लक्ष्मी का वास होने लगेगा।