आज से गणेश चतुर्थी उत्सव शुरु हो रहा हैं, जो 19 सितंबर तक चलेगा। हिंदू धर्म में गणेश चतुर्थी का विशेष महत्व है। गणेश उत्सव भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से शुरू होता है और अनंत चतुर्दशी तक मनाया जाता है। जिसे गणेश विसर्जन भी कहते हैं। बप्पा के जन्मोत्सव को देशभर में धूमधाम के साथ मनाया जाता है। भगवान गणेश को विघ्नहर्ता, मंगलकर्ता और बुद्धिदाता कहा जाता है। गणेश चतुर्थी पर विघ्न विनाशक गणेश जी का पूजन करने से मन की हर इच्छा पूरी होती है। साथ ही ये उपाय करने से संकट भी दूर होते हैं। चलिए आपको बताते हैं कि गणेश चतुर्थी के उपाय-

बेशमुार दौलत पाने और हमेशा धन बनाए रखने के लिए गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश को एक सुपारी, कुछ चावल के दाने और एक श्रीयंत्र भेंट करें। अब पूजन के बाद इन चीजों को अपनी तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से घर में मां लक्ष्मी का वास होता है।

अगर आपके घर में हमेशा लड़ाई-झगड़ा होता रहता है तो इससे छुटकारा पाने के लिए गणेश जी को दो लौंग अर्पित करें। अब रोजाना एक लौंग को अपने मुख में रखकर 'जय गणेश काटो क्लेश' मंत्र का 21 बार जाप करें। ऐसा करने से कलह खत्म हो जाएगी।

अगर किसी के घर में बुरी शक्ति का वास है तो इसे दूर करने के लिए गणेश जी की मूर्ति व तस्वीर के सामने एक सुपारी रखें। अब ओम गं गणपतये नम: मंत्र का 11 बार जप करें। अब प्रत्येक मंत्रोच्चारण के बाद सुपारी में फूंक मारे। अब इस सुपारी को अपने प्रवेश द्वार पर लाल व पीले कपड़े में बांधकर टांग दें। इससे परेशानी दूर हो जाएगी।

अगर आप कार्यक्षेत्र में सफलता पाना चाहते हैं तो गणेश जी के सामने दो इलायची और दो सुपारी रखें। अब जब कभी भी इंटरव्यू या किसी खास काम के लिए बाहर जा रहे हो तो भगवान को भेंट की गई ये इलायची और सुपारी अपनी जेब में रख लें। ऐसा करने से आपके काम बन जाएंगे।

अगर आप नौकरी पाना चाहते हैं या शादी करना चाहते हैं तो गणेश चतुर्थी के दिन एक पीले कपड़े में एक सुपारी रखें। अब गणेश जी के साथ सुपारी में भी कुमकुम लगाएं। अब गणपति का ध्यान करें। इसके बाद इसमें थोड़े चावल छिड़के। इसके बाद कपड़े को लपेटकर अपनी तिजोरी या रुपए-पैसों की जगह रख दें। इससे धन की वृद्धि होगी।