अजवाइन के अधिक सेवन से पेट में गर्मी बढ़ती है। इसकी वजह से कब्ज और सीने में जलन की समस्या हो सकती है। साथ ही माउथ अल्सर या मुंह के छालों की समस्या हो सकती है। अगर इंटरनल ब्लीडिंग या अल्सेराटिव कोलाइटिस है तो भी अजवाइन का सेवन नहीं करना चाहिए।

अजवाइन का इस्तेमाल पेट की गैस, एसिडिटी आदि से मुक्ति पाने के लिए किया जाता है। लेकिन इसे ज्यादा से ज्यादा 10 ग्राम तक ही खाया जा सकता है। इससे अधिक खाने पर आपकी परेशानी कम होने की बजाय बढ़ सकती है और आपको  उल्टी, मतली और सिरदर्द की समस्या भी हो सकती है।

अजवाइन का इस्तेमाल पेट की गैस, एसिडिटी आदि से मुक्ति पाने के लिए किया जाता है। लेकिन इसे ज्यादा से ज्यादा 10 ग्राम तक ही खाया जा सकता है। इससे अधिक खाने पर आपकी परेशानी कम होने की बजाय बढ़ सकती है और आपको उल्टी, मतली और सिरदर्द की समस्या भी हो सकती है।

जिन लोगों को लिवर से संबंधित कोई बीमारी है, उन्हें भी इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए वर्ना समस्या बढ़ सकती है। इसके अलावा जो पुरुष इन्फर्टिलिटी की परेशानी झेल रहे हैं, उन्हें इसके सेवन से पूरी तरह से बचना चाहिए।  

जिन लोगों को लिवर से संबंधित कोई बीमारी है, उन्हें भी इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए वर्ना समस्या बढ़ सकती है। इसके अलावा जो पुरुष इन्फर्टिलिटी की परेशानी झेल रहे हैं, उन्हें इसके सेवन से पूरी तरह से बचना चाहिए।

गर्भवती महिलाओं को अजवाइन के सेवन से परहेज करना चाहिए। अजवाइन की तासीर गर्म होने की वजह से ये शरीर में गर्मी की समस्या पैदा कर सकती है, साथ ही इसकी वजह से महिला की स्थिति गंभीर हो सकती है। यदि औषधि के रूप में खाना भी हो, तो भी एक बार विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

गर्भवती महिलाओं को अजवाइन के सेवन से परहेज करना चाहिए। अजवाइन की तासीर गर्म होने की वजह से ये शरीर में गर्मी की समस्या पैदा कर सकती है, साथ ही इसकी वजह से महिला की स्थिति गंभीर हो सकती है। यदि औषधि के रूप में खाना भी हो, तो भी एक बार विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

जिन लोगों को अजवाइन से एलर्जी है, उनको इसके सेवन और स्किन पर इस्तेमाल से रैशेज या पित्त की परेशानी हो सकती है। यहां तक कि अत्यधिक मात्रा में अजवाइन खाने से त्वचा संवेदनशील हो सकती है जो बाद में स्किन कैंसर की वजह बन सकती है। ऐसी स्थिति में अजवाइन खाने से पहले विशेषज्ञ का परामर्श जरूरी है।

जिन लोगों को अजवाइन से एलर्जी है, उनको इसके सेवन और स्किन पर इस्तेमाल से रैशेज या पित्त की परेशानी हो सकती है। यहां तक कि अत्यधिक मात्रा में अजवाइन खाने से त्वचा संवेदनशील हो सकती है जो बाद में स्किन कैंसर की वजह बन सकती है। ऐसी स्थिति में अजवाइन खाने से पहले विशेषज्ञ का परामर्श जरूरी है।