स्वतंत्रता दिवस से ठीक पहले सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी मिली है। असम के कार्बी आंगलोंग जिले से प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन Dimasa National Liberation Army का सदस्य जिंदा पकड़ा गया है। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए इस उग्रवादी के पास हथियार व गोलाबारूद भी बरामद किए गए हैं। 

खबर है किसी बड़े हमले की साजिश रच रहे इस उग्रवादी को पकड़ने के लिए खेरबाड़ी में धनसिरी पुलिस थाने तथा आर्मी ने मिलकर संयुक्त अभियान चलाया था। पुलिस अधीक्ष गौरव उपाध्याय के मुताबिक अभियान में पकड़े गए इस DNLA उग्रवादी की पहचान Betsing Jidung alias Master alias John Dimasa Jigdung के रूप में हुई है।

इस उग्रवादी के पास 9एमएम पिस्टल के साथ उसकी गोलियां तथा 3 राउंड गोलाबारूद उससे बरामद किया गया है। बताया गया है कि यह उग्रवादी इस संगठन से जुड़ने से पहले यूनाइटेड पीपल्स लिबरेशन फ्रंट का सदस्य था लेकिन 2016 में इसने आत्मसमर्पण कर दिया था।

नए संगठन में जिदुंग का काम कैडर में नए लोगों की भर्ती करना तथा उनको विशेष हथियार चलाने की ट्रेनिंग देना था। इसके अलावा वो NSCN (IM) के साथ हथियारों की डीलिंग में भी शामिल था।