गुना. मध्य प्रदेश कांग्रेस वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि महाराष्ट्र की तरह एमपी में भी बीजेपी को केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री और शिवराज सिंह चौहान को उनका उप-मुख्यमंत्री बनाना चाहिए था. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शिवसेना के एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस को उप-मुख्यमंत्री बनाए जाने पर बीजेपी को आड़े हाथों लिया.

उन्होंने कहा कि यही बात बीजेपी के दोहरे चरित्र को दिखाती है. एमपी में केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने बीजेपी से जुडऩे के लिए कांग्रेस छोड़ी, लेकिन उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया. जबकि, महाराष्ट्र में जो इस पद का मुख्य दावेदार था, उसे उप-मुख्यमंत्री बना दिया.

दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिला और जनपद के चुनाव में लोगों ने करोड़ों रुपये खर्च किए. यह जनता का पैसा था. बीजेपी ने कभी आजादी की लड़ाई में भाग नहीं लिया. लोगों ने कांग्रेस से पूरा लाभ लिया, लेकिन बीजेपी में चले गए. बीजेपी, कांग्रेस से गए नेताओं की हालत ऐसी कर देती है जैसे नींबू से रस निचोड़ दिया हो.

वहीं बमोरी क्षेत्र के धनोरिया गांव में आदिवासी महिला को जिंदा जलाने के मामले में दिग्विजय सिंह ने कहा कि सरकार को पीडि़त महिला का इलाज कराना चाहिए और जो गुनहगार हैं उन पर सख्त कार्रवाई की जाए. केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा ग्वालियर में दिए गए बयान पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ट्विटर पर नहीं जनता के बीच में जाकर सेवा करती है और मैं खुद पीडि़त महिला से हमीदिया अस्पताल में मिलकर आया हूं.