कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने देश में भाईचारा कायम रखने का अनुरोध करते हुए आज कहा कि अब भारतवासियों के जागने का अवसर आ गया है।

सिंह ने ट्वीट किया, 'हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई, हम आपस में हैं भाई भाई।' उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि कांग्रेस इन्हीं कारणों से संघ और भाजपा का विरोध करती है। भारत में धार्मिक उन्माद फैलाकर देशवासियों में नफरत पैदा कर फूट डालकर राज करना चाहते हैं। एकता से ही परिवार व देश की तरक्की होती है। परिवार व देश में फूट से बबार्दी होती है।

सिंह ने लिखा है, 'झूठा प्रचार किया जाता है हिंदुओं एक हो जाओ। हिंदू धर्म खतरे में है। मुसलमानों की जनसंख्या इतनी बढ़ रही है कि वे थोड़े दिनों में बहुसंख्यक हो जाएंगे। यह कौन सी राजनीति है। कौन सी देशसेवा है।'

उन्होंने कुछ खबरों को टैग करते हुए लिखा है, 'लेकिन वे मुसलमानों के खिलाफ कानून बनाने में व उन पर खुले आम अन्याय अत्याचार होने पर मौन सहमति देते हैं। संघ की शिक्षण संस्थान बच्चों में मुसलमानों के खिलाफ नफरत के बीज बोते हैं। जिसकी वजह से निदोर्ष मुसलमानों की हत्या होती है। मारा पीटा जाता है। दोषियों को भाजपा सरकार बचाती है।'

इसके दो दिन पहले इंदौर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भी सिंह ने काफी तीखे तेवर दिखाते हुए संघ और भाजपा पर हमला बोला था।