पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा से मिजोरम वापस भेजे गए ब्रू शरणार्थियों की संख्या में अंतर है। दोनों ही राज्य की सरकारें एकमत नजर नहीं आ रही हैं क्योंकि दोनों सरकारों की ओर से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों में 193 लोगों का अंतर सामने आया है।


मिजोरम के गृह सचिव लालबियाकजामा की मानें तो आंतरिक रूप से विस्थापित हुए 221 ब्रू परिवारों के 892 लोगों को उनके घरों को वापस भेजा गया है जबकि उत्तर त्रिपुरा के जिलाधिकारी रावेल एच कुमार के अनुसार ये 144 परिवारों के 699 लोग हैं।


वहीं उत्तरी त्रिपुरा जिले के कंचनपुर और पानीसागर प्रखंडों के राहत शिवरों में शरण लिए विस्थापित कुल 4447 ब्रू परिवारों का मिजोरम लौटने का कार्यक्रम है, जहां से वे जातीय संघर्ष के चलते 1997 से निकल आए थे। ब्रू शरणार्थियों के अपने घरों को लौटने का यह नौवां दौर 30 नवंबर को समाप्त हो जाएगा। इसे अंतिम दौर बताया जा रहा है।


मिजोरम के गृह सचिव ने कहा कि 14 नवंबर तक 221 परिवारों के 892 ब्रू लोग अपने घरों को भेजे गए हैं, उनमें 351 बच्चे हैं। गृह सचिव ने कहा कि उनमें 134 परिवार मामित जिले में, 68 परिवार लुंगलेई और 19 कोलासिब जिले में घरों को लौटे हैं।


जिलाधिकारी रावेल एच कुमार ने शुक्रवार को मुख्य सचिव के कार्यालय को एक आधिकारिक रिपोर्ट भेजकर तीन अक्टूबर और 15 नवंबर के बीच वापस भेजे गए लोगों की तिथिवार संख्या बताई है। उन्होंने कहा कि 31 अक्टूबर के बाद से एक भी ब्रू व्यक्ति मिजोरम नहीं गया जबकि यह प्रक्रिया जारी थी।


गौर हो कि 1997 में मिजोरम के ब्रू आदीवासी जातीय संघर्ष के चलते अपनी जान बचाकर त्रिपुरा भाग आए थे। और तब से ये सभी त्रिपुरा में ही शरणार्थी बनकर रह रहे हैं।