आज के समय में डायबिटीज के मरीजों को अपने खान-पान का बहुत ध्यान रखने की जरूरत होती है। उनके खाने से ब्लड में ग्लूकोज पहुंचता है, जो शरीर को एनर्जी देता है। हालांकि डायबिटीज के रोगियों के बॉडी सेल्स ग्लूकोज का इस्तेमाल ऊर्जा के लिए नहीं कर पाते हैं। जिसकी वजह से ब्लडस्ट्रीम में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। इसीलिए डॉक्टर्स डायबिटीज के मरीजों को मीठा खाने से मना करते हैं। हालांकि कभी-कभी सीमित मात्रा में आप कुछ मीठा खा सकते हैं। कई लोग सोचते हैं कि डायबिटीज होने पर बिल्कुल भी मीठा नहीं खा सकते हैं। ऐसा नहीं है, ब्लड शुगर बढ़ने पर आपको कार्बोहाइड्रेट्स भी कम मात्रा में लेना चाहिए। हां ये बात सच है कि ज्यादा मीठा डायबिटीज के मरीजों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है, लेकिन आप कुछ मीठी चीजें खाकर अपनी क्रेविंग शांत कर सकते हैं।
डार्क चॉकलेट-
अगर आपको डायबिटीज है और मीठा खाने की क्रेविंग हो रही है तो आप सीमित मात्रा में डार्क चॉकलेट खा सकते हैं। इससे आपका ब्लड शुगर कंट्रोल रहेगा और कोई परेशानी नहीं होगी। डार्क चॉकलेट एंटी-ऑक्सीडेंट्स का बेहतरीन स्रोत होता है। इसमें काफी मात्रा में फ्लेवनॉल्स होते हैं, जिससे शरीर पर सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ता है।
फल-
डॉक्टर्स का कहना है कि मीठा खाने का जब मन करे तो डायबिटीज के मरीज फल खा सकते हैं। फलों में नैचुरल शुगर होता है। साथ ही विटामिन्स और मिनरल्स काफी मात्रा में होते हैं। फलों में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जिससे ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल रहता है। आप कीवी, अमरूद, सेब, नारंगी और पपीता जैसे फल खा सकते हैं।

ओट्स की खीर-
ओट्स में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। इसे खाने से लंबे समय तक पेट भरा रहता है। ओट्स खाने से रक्त शर्करा का स्तर भी कंट्रोल रहता है। आप ओट्स को दूध को उबालकर उसमें सूखे मेवा डालकर खा सकते हैं। मीठे के लिए आप इसमें स्टेविया या आर्टिफिशियल स्वीटनर भी डाल सकते हैं। इसे खाने से आपकी क्रेविंग दूर हो जाएगी।

स्मूदीज-
डायबिटीज के मरीज मीठे में स्मूदी भी खा सकते हैं। आप अलसी के बीज या बेरीज से तैयार की गई स्मूदी पी सकते हैं। इसमें फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट्स और दूसरे जरूरी पोषक तत्व होते हैं। स्मूदी पीने से मीठे की क्रेविंग दूर हो जाती है। साथ ही ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है।