झारखंड के धनबाद में पिछले 80 घंटे से प्रेमी के घर के बाहर धरने पर बैठी प्रेमिका के प्यार की जीत हो गई। लड़का और लड़की की शादी दोनों परिवारों की रजामंदी से मंदिर में करवा दी गई है। मामला महेशपुर का है। 

ये भी पढ़ेंः यूपी के लड़के को Online LUDO में पाकिस्तानी लड़की से हुआ प्यार, फिर हुआ कुछ ऐसा कि पहुंच गई पुलिस

जानकारी के मुताबिक, महेशपुर पंचायत के मुखिया मनोज महतो के नेतृत्व में लड़का पक्ष के परिजन और लड़की पक्ष के परिजन गंगापुर स्थित मां लिलौरी के मंदिर पहुंचे। मंदिर के पुजारी उदय तिवारी ने पूरे विधि विधान के साथ शादी सम्पन्न करवाई। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण भी वहां मौजूद रहे।

ये भी पढ़ेंः दुनिया में सबसे खतरनाक है हीरे की ये खदान, ऊपर से पक्षी या प्लेन उड़ा तो हो गया गायब, जानिए क्यों

बता दें, ईस्ट वसुरिया की रहने वाली प्रेमिका निशा और महेशपुर के रहने वाले प्रेमी उत्तम महतों के बीच पिछले 4 साल से अफेयर था। दोनों की सगाई भी हुई, लेकिन शादी से 20 दिन पहले प्रेमी ने कहा कि वह उससे शादी नहीं करना चाहता है, जिसके बाद प्रेमिका भी अपने परिजनों के साथ प्रेमी के घर आई और दरवाजे के बाहर धरने पर बैठ गई। इस दौरान उसका प्रेमी उत्तम और उसके घर वाले वहां से फरार हो गए। अंततः निशा के पिता की ओर से राजगंज थाने में मामला दर्ज कराया गया, जिसके बाद ही दोनों पक्षों की कई दौर की बैठकों के बाद शादी पर सहमति बनी। वहीं, शादी के बाद प्रेमिका ने कहा कि वह बहुत खुश है कि उसे उसका प्यार मिल गया है। पुलिस में जो मामला दर्ज करवाया है, उसे भी वे वापस ले लेगी।