गोवा विधानसभा चुनावों (Goa assembly elections) से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता लक्ष्मीकांत पारसेकर (Laxmikant Parsekar) ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। दरअसल इस विधानसभा चुनावों में भाजपा ने पारसेकर को टिकट नहीं दिया था। 

इससे पहले 65 वर्षीय नेता  (Laxmikant Parsekar)  ने कहा कि वह पार्टी में नहीं रहना चाहते हैं और आज शाम तक औपचारिक रूप से अपना इस्तीफा सौंप देंगे। पारसेकर वर्तमान में आगामी गोवा चुनावों के लिए भाजपा की घोषणा पत्र समिति के प्रमुख हैं और पार्टी की कोर कमेटी के सदस्य भी हैं। बता दें कि मंड्रेम विधानसभा सीट (Mandrem assembly seat) से भाजपा ने मौजूदा विधायक दयानंद सोपटे को फिर से टिकट दिया है। वहीं पारसेकर यहां से दो बार विधायक रह चुके थे। 

सोपटे (Dayanand Sopte) ने 2017 के राज्य चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में पारसेकर को हराया था, लेकिन 2019 में नौ अन्य नेताओं के साथ सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल हो गए। पारसेकर (Laxmikant Parsekar) ने कहा कि फिलहाल मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है। मुझे आगे क्या करना चाहिए, यह बाद में तय किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी मंड्रेम में मूल भाजपा कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर रही है, ऐसे में यहां बड़े पैमाने पर आक्रोश है। बता दें कि पारसेकर 2014 और 2017 के बीच गोवा के मुख्यमंत्री थे। तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर (Manohar Parrikar) को रक्षा मंत्री के रूप में केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने के बाद उन्हें राज्य का नेतृत्व करने के लिए चुना गया था। वहीं गोवा में 14 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने 34 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। राज्य में कुल 40 सीटें हैं।