नई दिल्ली। कांग्रेस के दीपेंद्र सिंह हुड्डा (Deepender Singh Hooda) ने महंगाई को देखते हुए विस्थापित कश्मीरी पंडितों की आर्थिक सहायता दोगुनी करने की बुधवार को राज्यसभा में मांग की। हुड्डा ने शून्यकाल के दौरान इस मामले को उठाते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के बढऩे के बाद कश्मीरी पंडित दिल्ली और हरियाणा में आ कर रहने लगे। 

यह भी पढ़ें- लिविंग रूट ब्रिज कल्चरल लैंडस्केप्स ऑफ मेघालय को यूनेस्को की विश्व धरोहर का मिलेगा दर्जा

उन्होंने कहा कि हरियाणा में हुड्डा सरकार के दौरान विस्थापित कश्मीरी पंडितों को पांच हजार रुपये प्रतिमाह की आर्थिक सहायता राशि दी जा रही थी। 

यह भी पढ़ें- Sanju Samson और Shimran Hetmyer के तूफान से राजस्थान ने हैदराबाद को 61 रन से रौंदा

उन्होंने कहा कि इसी तरह से दिल्ली में रहने वाले कश्मीरी पंडितों को तीन हजार रुपये प्रतिमाह की आर्थिक सहायता मिल रही थी। उन्होंने कश्मीरी पंडितों को एक समान आर्थिक सहायता दिए जाने के लिए नीति बनाने तथा उन्हें जम्मू में बसाने के लिए ठोस उपाय करने की भी मांग की।