दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी ने सिक्किम के गुरुद्वारा डांग मार साहिब तथा गुरुद्वारा चुंगथांग समेत सिखों के अन्य मसलों को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। कमेटी के प्रधान मनजीत सिंह जीके, महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा, पूर्व राज्यसभा सदस्य त्रिलोचन सिंह, वरिष्ठ अकाली नेता कुलदीप सिंह भोगल तथा धर्मप्रचार कमेटी के पूर्व चेयरमैन परमजीत सिंह राणा ने उपरोक्त मसलों का मांग पत्र  सिंह को सौंपते हुए इसे गंभीरता से लेने की अपील की। गौर हो कि इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी को इस बाबत पत्र लिखा है। जीके ने मांग की है कि उक्त गुरुद्वारा साहिब के वजूद को बचाने के लिए वह खुद दखल दें।

 

वहीं एसजीपीसी अध्यक्ष प्रो. कृपाल सिंह बंडूगर ने कहा कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सिक्किम स्थित गुरुद्वारा डांगमार साहिब और चुंगथांग की सिख संगत की भावनाओं को बरकरार रखने की हर संभव कोशिश करेगी। उनके ऐतिहासिक महत्व को उजागर किया जाएगा। कानूनी पैरवी की जाएगी। प्रोफेसर सीनियर अकाली नेता देवेन्द्र सिंह भप्पू के घर शोक जताने पहुंचे थे। इन स्थानों के ऐेतिहासिक महत्व को उजागर करने के लिए कमेटी गठित की है।