पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के मामले में 24 मई को दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार को गिरफ्तार किए जाने के नौ दिन बाद दिल्ली पुलिस ने उनके हथियारों का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। उनके मामले से संबंधित दिल्ली पुलिस के जानकार सूत्रों के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने कुमार को उनके हथियार लाइसेंस को रद्द करने के लिए नोटिस भेजा है, जो उन्हें 2012 में जारी किया गया था।

सूत्र ने बताया कि फिलहाल कुमार के शस्त्र लाइसेंस को निलंबित कर दिया गया है और नोटिस में पुलिस ने पूछा है कि क्यों न शस्त्र लाइसेंस रद्द किया जाए। पुलिस की ओर से सीधे उनके घर नोटिस भेजा गया है। उन्हें नोटिस का जवाब देने के लिए 10 दिन का समय दिया गया है। धनखड़ की चार मई की रात छत्रसाल स्टेडियम में हुई मारपीट के दौरान मौत हो गई थी। कुमार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 24 मई को दिल्ली से उसके सहयोगी अजय के साथ 18 दिनों तक फरार रहने के बाद गिरफ्तार किया था।

रविवार को क्राइम ब्रांच के अधिकारी सुशील कुमार को उत्तराखंड के हरिद्वार ले गए ताकि जांच की जा सके कि उन्होंने भागते समय कहां शरण ली थी। पुलिस टीम ने हरिद्वार में कुनार के कपड़े और मोबाइल फोन को भी खोजने का प्रयास किया। इस मामले में दिल्ली पुलिस अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जिनमें नवराज बवाना और काला असौदा गिरोह के कई सदस्य शामिल हैं। सुशील कुमार ने 2008 के बीजिंग ओलंपिक खेलों में कांस्य पदक और 2012 के लंदन ओलंपिक खेलों में रजत पदक जीता था।