दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीमें सोमवार शाम को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और गुरुग्राम स्थित ट्विटर इंडिया के दफ्तर पहुंची हैं। माना जा रहा है कि टीम के अधिकारी टूलकिट मामले में ट्विटर के दफ्तरों पर छापेमारी कर रहे हैं।

ये छापेमारी दिल्ली के लाडो सराय और गुरुग्राम में स्थित दफ्तरों में चल रही है। मालूम हो कि कुछ दिन पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने कांग्रेस पर टूलकिट के माध्यम से मोदी सरकार की आलोचना करने का आरोप लगाया था। इसके बाद कांग्रेस ने इन टूलकिट्स वाले डॉक्यूमेंट्स को फर्जी करार देते हुए दिल्ली और छत्तीसगढ़ में पुलिस में मामला दर्ज करवाया था। वहीं, बाद में ट्विटर ने बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा द्वारा टूलकिट को लेकर किए गए ट्वीट को मैन्युपुलेटेड मीडिया बताते हुए इसका टैग लगा दिया था।

दिल्ली और गुरुग्राम के दफ्तरों पर छापेमारी से पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आज ही ट्विटर इंडिया को मैन्युपुलेटेड मीडिया को लेकर नोटिस भेजा था। नोटिस में ट्विटर से संबित के ट्वीट को मैन्युपुलेटेड मीडिया बताने के पीछे की वजह पूछी गई थी। उधर, ट्वीट को मैन्युपुलेटेड बताने के बाद केंद्र सरकार ने भी ट्विटर से कड़ी आपत्ति जताई है। 

सरकार ने हाल ही में ट्विटर से कहा था कि वह इस टैग को हटाए क्योंकि मामला कानून प्रवर्तन एजेंसियों के समक्ष लंबित है। सरकार ने स्पष्ट तौर पर कहा कि  सोशल मीडिया मंच फैसला नहीं दे सकता वह भी तब जब मामले की जांच जारी हो। सरकार ने ट्विटर से जांच प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करने को कहा था। 

टूलकिट मामला सामने आने के बाद कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और संबित पात्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। इस सिलसिले में सोमवार को पुलिस ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का बयान दर्ज कर लिया है। राजधानी रायपुर में सुबह से राजनीतिक घटनाक्रम में बीजेपी नेताओं ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सिंह के साथ अपनी गिरफ्तारी की मांग को लेकर थाने के सामने प्रदर्शन किया था। रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को यहां बताया कि सिविल लाइंस क्षेत्र के नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) नसर सिद्दीकी के नेतृत्व में आज पुलिस का एक दल मौलश्री विहार स्थित रमन सिंह के निवास पहुंचा और उनका बयान दर्ज किया।