दिल्ली सरकार ने 83,183 निर्माण श्रमिकों के खातों में 5-5 हजार रुपये की अनुदान राशि भेजी है। श्रमिकों को रिन्यूअल प्रक्रिया पूरी न होने के कारण सहायता राशि नहीं मिल पायी, पिछले साल नवंबर में वायु प्रदूषण के कारण दिल्ली में निर्माण गतिविधियों को बंद कर दिया गया। जिससे निर्माण श्रमिकों की आजीविका के साधन बंद हो गए। इसके बाद दिल्ली सरकार ने श्रमिकों को पांच-पांच हजार रुपए की सहायता राशि देने का ऐलान किया और इसके लिए 250 करोड़ रुपये जारी किए गए थे।

ये भी पढ़ेंः पंजाब के मुख्यमंत्री बनते ही बुरे फंसे भगवंत मान, लग गया ऐसा बड़ा आरोप


केजरीवाल सरकार ने नवंबर में प्रदूषण के कारण निर्माण कार्य बंद होने पर दिल्ली बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड से रजिस्टर्ड 4.92 लाख श्रमिकों को 245 करोड़ रुपये की सहायता राशि प्रदान की और अब रिन्यूअल प्रक्रिया पूरी होने के बाद 83 हजार श्रमिकों को 41.9 करोड़ रुपये की राशि वितरित की गई है। ये सहायता राशि अगले 2 कार्य दिवसों में श्रमिकों के खातों में पहुंच जाएगी। निर्माण बोर्ड के साथ 24 नवंबर, 2021 से पहले पंजीकृत सभी निर्माण श्रमिकों को ये सहायता राशि दी गई है।

ये भी पढ़ेंः तो क्या कभी भी गिर सकती है इमरान खान की सरकार, इतने सांसदों ने की बगावत


इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, सरकार निर्माण श्रमिकों के साथ हर कदम पर खड़ी है। श्रमिक देश के रीढ़ की हड्डी है, जो देश को मजबूत करते हैं। मजदूर खड़े हैं तो हमारी इमारतें और शहर खड़े हैं। इसलिए श्रमिकों के सम्मान व हितों का ध्यान रखना हमारी सरकार की मुख्य प्राथमिकता है। दिल्ली में निर्माण गतिविधियों पर रोक लगा दी गई थी। जिससे श्रमिकों की आजीविका प्रभावित हुई थी। दिल्ली सरकार तब भी उनके साथ खड़ी थी और अब भी उनके साथ खड़ी है। दिल्ली सरकार उनकी हर संभव मदद करेगी। दिल्ली में लगभग 11 लाख निर्माण श्रमिक हैं, जिनमें से 8.5 लाख श्रमिक बोर्ड के साथ पंजीकृत हैं। 

उपमुख्यमंत्री ने अपील करते हुए कहा कि, जिन श्रमिकों को बैंक खातों में समस्या होने या उसके अपडेट न होने के कारण सहायता राशि प्राप्त नहीं हुई है, वह ई-डिस्ट्रिक्ट वेबसाइट पर नि:शुल्क अपने बैंक खातों की डिटेल्स को संशोधित करवा सकते हैं। इसके अलावा जिनकी रिन्यूअल लंबित है वो भी अपनी पंजीकरण प्रक्रिया पूरी करवाएं। सरकार द्वारा अगले भुगतान चक्र में उनके खातों में सहायता राशि भेज दी जाएगी। सरकार श्रमिकों से यह भी अपील कर रही है वे स्वयं को जल्द से जल्द दिल्ली बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड के साथ रजिस्टर्ड कराएं, ताकि उन्हें सरकार द्वारा दी जाने वाली कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल सके।