दिल्ली सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों (electric vehicles) के लिए चार्जिंग स्टेशन लगाने हेतु बड़ा ऐलान किया है। इसके तहत अब दो और तीन पहिया वाहनों सहित हल्के इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए दिल्ली सरकार मॉल, अपार्टमेंट, अस्पताल और इस तरह की जगहों पर निजी चार्जर (charging station) लगाने के लिए सिर्फ 2,500 रुपये वसूलेगी। इसका मतलब है कि अब कोई भी व्यक्ति केवल 2,500 रुपये की कनेक्शन लागत पर निजी ईवी चार्जर इंस्टॉल करवा सकता है।

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने चार्जिंग स्टेशनों के लिए शुरुआती 30 हजार आवेदकों को 6,000 रुपये की सब्सिडी दी है। इससे हर चार्जर की कीमत करीब 2,500 रुपये हो गई है।

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (kailash gehlot) ने सिंगल विंडो सुविधा की शुरुआत करते हुए कहा कि डिस्कॉम कंपनियों के साथ मिलकर यह पहल की गई है। लोग संबंधित डिस्कॉम पोर्टल पर जाकर या हेल्पलाइन नंबरों पर कॉल करके, निजी चार्जिंग स्टेशनों को इंस्टॉल करवा सकते हैं।

इसके लिए आवेदक पोर्टल पर जाकर भरोसेमंद इलेक्ट्रिक वाहन (electric vehicle) चार्जर देख सकते हैं। वे इन चार्जर्स की कीमतों तुलना कर सकते हैं। साथ ही, उन्हें ऑनलाइन या फोन कॉल के जरिए ऑर्डर भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आवेदन करने के 7 दिनों के अंदर ही EV चार्जर को इंस्टाल कर दिया जाएगा।

आवेदक कम ईवी टैरिफ का लाभ उठाने के लिए आवेदक नए बिजली कनेक्शन (pre-paid meter) का विकल्प चुन सकते हैं या मौजूदा कनेक्शन के साथ जारी रख सकते हैं।

ईवी चार्जर इंस्टॉल (ev charger install) करने के लिए बहुत कम जगह की ज़रूरत होगी। LEV AC के लिए एक वर्ग फुट और AC 001 के लिए दो वर्ग फुट की जरूरत होती है। DC-001 के लिए दो वर्ग मीटर ज़मीन और दो मीटर की ऊंचाई वाली जगह पर इंस्टॉल किया जा सकता है। LEV AC चार्जर और AC 001 चार्जर दोनों वॉल-माउंटेड हैं।

इन दोनों चार्जर का इस्तेमाल खास तौर पर दोपहिया और तिपहिया वाहनों को चार्ज करने के लिए किया जाता है। DC 001 का इस्तेमाल फ्लीट ऑपरेटर अपनी ई-कारों को चार्ज करने के लिए करते हैं।