नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका पर मंगलवार को अपना आदेश 18 जून तक के लिए सुरक्षित रख लिया। जैन को धन शोधन रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया है। ईडी ने 30 मई को जैन को आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति के मामले में गिरफ्तार किया था। 

ये भी पढ़ेंः मोदी सरकार का सबसे बड़ा ऐलान, अगले डेढ़ साल में 10 लाख लोगों को मिलेगी सरकारी नौकरी

विशेष न्यायाधीश (पीसी एक्ट) गीतांजलि गोयल ने सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से दलीलें सुनने के बाद जैन को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। न्यायाधीश ने दलीलों को सुनने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया। 

ये भी पढ़ेंः उत्तर प्रदेश में भाजपा का एक बार फिर धमाका, 13 में से निर्विरोध जीतीं इतनी सीटें

इस मामले में ईडी के अधिवक्ता ने कहा है कि जांच एजेंसी ने राम प्रकाश ज्वैलर्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अंकुश जैन, वैभव जैन, नवीन जैन, योगेश कुमार जैन और सिद्धार्थ जैन तथा अंकुश जैन के ससुर एवं प्रूडेंस ग्रुप ऑफ स्कूल्स चलाने वाले लाला शेर सिंह, जीवन विज्ञान ट्रस्ट के चेयरमैन जीएस मथारू और जीवन विज्ञान ट्रस्ट के लाला शेर सिंह के ठिकानों पर छापेमारी की है। 

तलाशी के दौरान विभिन्न आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल रिकॉर्ड जब्त किए गए।