दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने राज्य का 69 हजार करोड़ का डिजिटल बजट पेश किया। इसमें महामारी के मौजूदा दौर में दिल्ली के विकास का खाका पेश किया गया। मनीष सिसोदिया के अनुसार इस बजट में आने वाले 25 सालों के विकास की आधारशिला रखी गई। 

दिल्ली सरकार ने इस बजट को देशभक्ति बजट नाम दिया है। बजट पेश करते हुए सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार ने निर्णय लिया है कि सरकारी अस्पताल में कोविड वैक्सीन नि:शुल्क लगेगी इसके लिए बजट में 50 करोड़ की राशि का अलग से प्रवाधान किया गया है। जल्द ही हम 60000 प्रतिदिन वैक्सीन लगाने की क्षमता हासिल कर लेंगे जो अब तक 45,000 प्रतिदिन है।

डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगले साल से दिल्ली में महिलाओ के लिए विशेष मोहल्ला क्लीनिक खुलेंगे। दिल्ली की अलग-अलग कॉलोनियों में सरकार की तरफ से ध्यान और योग के प्रशिक्षक उपलब्ध कराए जाएंगे। शहीदों के परिवार के लिए 26 करोड़ के बजट का प्रस्ताव किया गया। 75 वर्ष के अधिक उम्र के नागरिकों को सम्मानित करने के लिए दिल्ली भर में कार्यक्रम होंगे। दिल्ली के हर नागरिक को हेल्थ कार्ड दिया जाएगा और हर व्यक्ति का ऑनलाइन डेटा उपलब्ध होगा, अस्पताल में पुराने इलाज की हर जानकारी उपलब्ध होगी।

बजट पेश करते हुए कहा कि हम सब स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के ऋणी हैं, ये सदन 1912 से 1926 तक अखंड भारत का संसद रहा है, 75 साल पहले आजादी को संभव करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए बजट पेश कर रहा हूं। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि देशभक्ति बजट के नाम से ये बजट पेश कर रहा हूं, 75 सप्ताह तक देशभक्ति का आयोजन 12 मार्च से किया जाएगा। 15 अगस्त 2022 तक दिल्ली में देशभक्ति का माहौल रहेगा। 2047 में हम दिल्ली को कहां देखना चाहते हैं, इसकी आधारशिला रखना चाहता हूं।