भारत में लाउडस्पीकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का पालन होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : पायलट प्रोजेक्ट के रूप में अरुणाचल प्रदेश भारत-चीन सीमा पर तीन मॉडल गांव विकसित करेगा

आदेश गुप्ता ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। गुप्ता ने कहा कि कल, हमने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को एक पत्र लिखकर धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग की, सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुसार। यहां तक ​​कि बॉम्बे हाई कोर्ट भी कहता है कि लाउडस्पीकर किसी धर्म का हिस्सा नहीं है।

गुप्ता ने कहा कि दिल्ली में ध्वनि प्रदूषण चरम पर पहुंच चुका है। कई राज्यों ने धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने का निर्णय लिया है और जनता ने इसका स्वागत किया है। स्टूडेंट्स और बीमारियों से ग्रसित लोगों को इससे परेशानी होती है।

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने सोमवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और नगर निगमों को पत्र लिखकर उत्तर प्रदेश सरकार की तर्ज पर उन धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने या आवाज नियंत्रित करने की कार्रवाई की मांग की, जो इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : माकपा की मजदूर एकता दिवस पर निकाली रैली पर हुआ हमला, मचा हड़कंप

सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने पत्र में दावा किया, ‘सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार सभी धार्मिक स्थलों पर लगे सभी लाउडस्पीकर को या तो हटा दिया जाना चाहिए या आवाज को सीमित कर दिया जाना चाहिए ताकि शांति भंग ना हो और आवाज भवन के अंदर ही सुनाई दे। विशेष रूप से स्टूडेंट्स, गंभीर रूप से बीमार और आसपास रहने वाले लोगों की शांति ना भंग हो।’ भाजपा सांसद ने दावा किया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उत्तर प्रदेश ने ठीक से पालन किया है लेकिन दिल्ली में इसका ठीक से पालन नहीं हो रहा है।