नई दिल्ली।  दिल्ली के इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर तीन में से एक रनवे रखरखाव कार्य के मद्देनजर 6 नवंबर को आधी रात से तीन दिन के लिए बंद रहने से प्रतिदिन कम से कम 200 उड़ानें रद्द होंगी। तीन विमान सेवा कंपनियों इंडिगो, विस्तारा और गोएयर से प्राप्त जानकारी के अनुसार, उनकी रोजाना कुल 136 उड़ानें रद्द होंगी। 

हालाँकि, दिल्ली हवाई अड्डे से परिचालन करने वाली अन्य तीन कंपनियों के आँकड़े उपलब्ध नहीं हो पाये हैं, लेकिन जानकारों का कहना है कि एयर इंडिया, जेट एयरवेज और स्पाइस जेट को मिलाकर हर दिन कम से कम 200 उड़ानें रद्द होंगी। 

हवाई अड्डे का संचालन करने वाली कंपनी दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (डायल) ने बताया कि रनवे 11-29 सात नवंबर की रात 12 बजकर एक मिनट से 10 नवंबर की सुबह सात बजे तक बंद रहेगा ,

इस दौरान उसकी उड़ानों का भार अन्य दो रनवे 10-28 और 09-29 पर होगा तथा हवाई अड्डे की परिचालन क्षमता घटकर 45 उड़ान प्रति घंटा रह जायेगी. अभी यह औसतन 67 उड़ान प्रति घंटा है. सभी एयरलाइंस एसएमएस, सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों से यात्रियों को रद्द उड़ानों की सूचना दे रही हैं। 

जहाँ संभव हो रहा है, वे दो उड़ानों को एक में ही मिलाने की कोशिश भी कर रही हैं. विस्तारा ने कहा है कि इस दौरान प्रभावित उड़ानों के लिए यात्रियों को पूरा रिफंड दिया जायेगा। 

 देश की सबसे बड़ी विमान सेवा कंपनी इंडिगो ने बताया कि उसकी 70 उड़ानें रद्द होंगी. आगमन और प्रस्थान मिलाकर गोएयर की कुल 36 और विस्तारा की 30 उड़ानें रद्द होंगी. स्पाइसजेट और जेट एयरवेज ने इस बारे में जानकारी देने से इन्कार कर दिया जबकि सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।