नई दिल्ली। रक्षा खरीद परिषद (defense procurement council) ने सशस्त्र सेनाओं के लिए जरूरत के आधार पर मंजूरी श्रेणी के तहत 8357 करोड़ रुपए के रक्षा सौदों पर मुहर लगा दी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई खरीद परिषद की बैठक में इससे संबंधित प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। आत्मनिर्भर भारत की योजना को बढ़ावा देने के लिए इन सभी प्रस्तावों को भारत से खरीदो श्रेणी के तहत मंजूरी दी गई है। 

यह भी पढ़ें- लगातार दूसरे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम , जानें आज कितना महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, क्या हैं नए रेट

इसमें स्वदेशी डिजाइन, विकास और विनिर्माण पर विशेष जोर दिया गया है। इन रक्षा सौदों के तहत रात के समय काम आने वाले उपकरण, हल्के वाहन, एयर डिफेंस फायर कंट्रोल रडार और जी सेट 7बी उपग्रह शामिल है। 

यह भी पढ़ें- अगले 24 घंटो में बदल जाएगा इन लोगों का भाग्य! बुध चमकाएंगे इन राशि वालों की किस्‍मत

इन रक्षा उपकरणों की खरीद से सशस्त्र सेनाओं की संचालन तैयारियां बेहतर होंगी और उनकी विजिबिलिटी तथा गति में बढ़ोतरी के साथ साथ संचार और दुश्मन के विमानों का पता लगाने की क्षमता बढ़ेगी। एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय में रक्षा खरीद परिषद में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए जरूरत के आधार पर आईडीएक्स स्टार्टअप और सूक्ष्म तथा लघु और मध्यम इकाइयों से 380 करोड़ रुपए की खरीद को भी मंजूरी दी है।