रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रविवार सुबह तीन दिवसीय लद्दाख दौरे पर पहुंचे और इस यात्रा के दौरान वह आंतरिक और सीमाओं की सम्रग सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करेंगे। सिंह का लद्दाख दौरा इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि वह भारत और चीन के बीच हाल ही नए दौर की बातचीत के बाद यहां आये है जिसमें दोनों पक्षों ने पिछले वर्ष मई के सैन्य गतिरोध से जुड़े शेष मसलों को दूर करने पर सहमति जताई है। 

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आज सुबह लेह हवाई अड्डे पर पहुंचे  सिंह का लद्दाख के उपराज्यपाल राधा कृष्ण माथुर और सेना और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने स्वागत किया। उन्होंने बताया कि तीन दिवसीय यात्रा के दौरान सिंह पूर्वी लद्दाख में नियंत्रण रेखा (एलओसी) और वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर सुरक्षा स्थिति और सामरिक तैयारियों की समीक्षा करेंगे। 

उन्होंने कहा, रक्षा मंत्री को सेना के लेह स्थित फायर एंड फ्यूरी कोर के मुख्यालय में शीर्ष कमांडरों द्वारा समग्र स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सिंह इस दौरान नियंत्रण रेखा पर तैनात सैनिकों से भी बातचीत करेंगे। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री सीमा सडक़ संगठन (बीआरओ) द्वारा निर्मित विभिन्न बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे।