गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के नाम पर हिसा करने वाले 1 लाख के इनामी आरोपी दीप सिद्धू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली हिंसा के बाद से ही दिल्ली पुलिस सरगर्मी से दीप सिद्धू की तलाश कर रही थी लेकिन वह पुलिस को लगातार चकमा दे रहा था। पुलिस के साथ आंख मिचोली के इस खेल में वह अकेला नहीं था, गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने यह भी पता लगा लिया है कि दीप सिद्धू की मदद कौन कर रहा था।

फरारी के दौरान दीप सिद्धू की मदद कैलिफोर्निया में बैठी उसकी एक महिला मित्र कर रही थी। दरअसल जब दीप सिद्धू फरार हुआ था तब उसकी आखिरी लोकेशन लुधियाना थी। इसके बाद दीप सिद्धू ने अपने फोन से फेसबुक अकाउंट लॉग आउट कर दिया था। दिल्ली पुलिस की टीम उसके फेसबुक अकाउंट पर नजर बनाए हुई थी। क्योंकि वो लगातार फेसबुक पर वीडियो अपलोड कर रहा था।

पुलिस को पता चला कि दीप सिद्धू का फेसबुक कैलिफोर्निया में किसी और फोन पर लॉगिन किया गया है और वह फोन था दीप सिद्धू की महिला मित्र का जो खुद एक एक्ट्रेस है। इसके बाद पुलिस को चकमा देने के लिए दीप सिद्धू पंजाब में बैठकर वीडियो बनाता था अपनी महिला मित्र को कैलिफोर्निया में भेजता था और वह दीप सिद्धू के फेसबुक अकाउंट से उसे अपलोड करती थी। दीप सिद्धू ऐसा इसलिए कर रहा था क्योंकि पुलिस को चकमा देना चाहता लेकिन आखिरकार वो पुलिस से बच नहीं पाया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

26 जनवरी को दिल्ली में लाल क़िला के अलावा दिल्ली के कई जगहों पर हुई हिंसा के बाद 27 जनवरी को दिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू सहित 8 लोगों की गिरफ्तारी के लिए इनाम घोषित किया था। सिद्धू के ऊपर 1 लाख का इनाम घोषित किया गया था। दीप सिद्धू के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने और उपद्रव के लिए लोगों को उकसाने के आरोप में केस दर्ज किया था। फरार होने के बाद दीप सिद्धू के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया था।