दिल्ली के लाल किले पर हुई हिंसा के आरोपी दीप सिद्धु को एक बार फिर क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। दीप को लाल किले के अंदर तोड़फोड़ करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। पुरातत्व विभाग ने क्राइम ब्रांच में इस संबंध में मामला दर्ज करवाया था। जिसके चलते ये कार्रवाई की गई है। इससे पहले गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के लाल किले में हुई हिंसा के मामले में दीप सिद्धु को शनिवार को ही दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने जमानत दी थी। सिद्धु को तीस हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी गई थी और शर्त थी कि वे पुलिस के बुलाने पर हाजिर होंगे, अपना पासपोर्ट जमा करवाएंगे, फोन नंबर बदलेंगे नहीं और सबूतों के साथ कोई भी छेड़छाड़ नहीं करेंगे।

कृषि कानूनों के विरोध में किसान केन्द्र के खिलाफ लगातार आंदोलन कर रहे हैं। इसके तहत ही 26 जनवरी को लाल किले तक ट्रैक्टर रैली निकालने का आह्वान किया गया था। इस दौरान किसानों ने दिल्ली में जमकर उपद्रव किया था और लाल किले में तोड़फोड़ की गई थी। इसके बाद आरोपी दीप ने फेसबुक लाइव के जरिए अपने आपको निर्दोष बताया था। दीप सिद्धू ने कहा था कि मुझे पता चला है कि मेरे खिलाफ गिरफ्तारी वारंट और लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। मैं कुछ ही दिनों में जांच एजेंसी के सामने पेश हो जाऊंगा।

दीप ने इस दौरान कहा था कि उनके खिलाफ कई तरह की गलत जानकारी फैलाई जा रही है। मैं किसी भी जांच से डरता नहीं हूं। जब मैंने कुछ गलत नहीं किया है तो मुझे किसी से भी भागने की जरूरत नहीं है। सिद्धू ने कहा, मुझे कुछ बातों की सच्‍चाई का पता लगाने के लिए थोड़ा समय चाहिए। मैं जल्‍द ही जांच एजेंसी के सामने पूरे तथ्‍यों के साथ पेश हो जाऊंगा। सिद्धू ने कहा कि मैंने कुछ गलत नहीं किया है इसलिए मैं जांच से भी नहीं भागूंगा।