जम्मू -कश्मीर (Jammu and Kashmir) के डोडा जिले में गुरुवार को एक मिनी बस (Bus accident) के गहरी खाई में गिर जाने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 तक पहुंच गयी और अन्य 15 घायल हो गये। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने इस सड़क दुर्घटना (road accident) पर शोक व्यक्त किया और हताहतों के परिजनों को सहायता राशि देने की घोषणा की। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मिनी बस डोडा से ठथरी जा रही थी इसी दौरान चिनाब के पास बस अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई। 

अभी तक आठ शवों की पहचान हो चुकी है। सूत्रों ने कहा, 'इस दुर्घटना में दस लोगों की मौत हुई है और 15 घायल हुए हैं।' उन्होंने कहा कि दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद तत्काल पुलिस ने स्थानीय लोगों और जिला प्रशासन के साथ बचाव अभियान शुरू किया। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने ट्वीट किया, ''जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) में डोडा जिले के ठथरी के पास सड़क दुर्घटना से दुखी हूँ। दुख की इस घड़ी में मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि दुर्घटना में घायल लोगों शीघ्र स्वस्थ हों।'

उन्होंने कहा, 'जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) में सड़क दुर्घटना में जान गंवाने लोगों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से दो-दो लाख रुपए की सहायता राशि दी जाएगी। दुर्घटना में घायलों को 50 हजार रुपए दिए जाएंगे।' इससे पहले केंद्रीय मंत्री जितेंद्र ङ्क्षसह ने ट््वीट किया, '' डोडा में ठथरी के पास हुई दुखद सड़क दुर्घटना के बारे में पता चला। अभी डोडा के उपायुक्त विकास शर्मा से उनकी बात हुई है।'

उन्होंने कहा, 'घायलों को जीएमसी डोडा अस्पताल भेजा जा गया है। जहां उन्हें हर तरह की सहायता उपलब्ध कराई जायेगी। उप राज्यपाल मनोज सिन्हा के कार्यालय ने भी दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, ''डोडा में दर्दनाक सड़क दुर्घटना के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ। मेरी प्रार्थना उन परिवारों के लिए है जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है। जिला प्रशासन को मृतकों के परिवारों को तत्काल राहत और घायलों को बेहतर चिकित्सा सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया गया है।'

उन्होंने कहा कि गंभीर रूप से घायलों में से सात को जम्मू के सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में ले जाया गया। मृतकों की पहचान भारोत मोहल्ला के गुलाम हसन और शबीर अहमद, रितिक शर्मा निवासी जथाली , प्रेमनगर , बखाना मोहल्ला के जमाल दीन, भरूआह के मोहम्मद लतीफ, ठथरी बरशाला की अनारी देवी, कांठी मोहल्ला के संतोष कुमार, और शिरधनी बेला के बधुर सिंह के रूप में हुई है।