देवेंद्र सिंह राणा (Davinder Singh Rana) और सुरजीत सिंह सलाथिया (Surjit Singh Salathia) को पार्टी में शामिल करने के बाद भाजपा अब जम्मू क्षेत्र में नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) (National Conference) के सभी शीर्ष नेताओं को पार्टी बदलने के लिए मनाने की योजना बना रही है।भाजपा नेताओं ने संकेत दिया कि जम्मू से कई और नेता पार्टी में शामिल होंगे। पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि भविष्य में नेकां के अधिक से अधिक नेता विशेषकर जम्मू क्षेत्र के नेता भगवा पाले में आएंगे।

उन्होंने कहा, अगर सब कुछ ठीक रहा, तो भविष्य में नेकां (National Conference) जम्मू क्षेत्र में नेतृत्वविहीन हो जाएगी। नेकां के कई शीर्ष नेता हमारे संपर्क में हैं और कई लोग उनका अनुसरण करेंगे। केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह के भाई राणा और सलाथिया नेशनल कांफ्रेंस से अपना पुराना नाता खत्म करने के बाद सोमवार को भाजपा में शामिल हो गए। रविवार को दोनों नेताओं ने नेकां से इस्तीफा दे दिया था।

राणा और सलाथिया के बाद, जम्मू क्षेत्र के 17 नेकां नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया, जिसमें प्रांतीय सचिव, जिला अध्यक्ष और अन्य शामिल हैं। पार्टी के एक नेता ने कहा कि नेकां National Conference में बड़े पैमाने पर पलायन शुरू हो गया है और भविष्य में वे जम्मू क्षेत्र में नेतृत्वविहीन हो जाएंगे। उन्होंने कहा, कल नेकां के 17 नेताओं ने इस्तीफा दे दिया और अभी तो और भी आगे आएंगे, क्योंकि वे नेकां सरकार द्वारा जम्मू क्षेत्र के साथ दुव्र्यवहार करने के तरीके से नाखुश हैं। 

भगवा पार्टी के एक अंदरूनी सूत्र ने दावा किया कि स्थानीय स्तर पर एनसी नेताओं के शामिल होने का सिलसिला जारी है और अब राणा और सलाथिया जैसे बड़े नाम भी भाजपा में शामिल होंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या नेकां के और नेता पार्टी में शामिल होंगे, भाजपा जम्मू-कश्मीर के सह-प्रभारी आशीष सूद ने आईएएनएस से कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों में विश्वास करने वाले सभी लोगों का पार्टी में स्वागत है। सूद ने कहा, हर कोई जो प्रधानमंत्री मोदी की नीति में विश्वास करता है और उसका पालन करने के लिए तैयार है, उसका भाजपा में स्वागत है।