साइक्लोन टाउ ते तुफान अपना विकराल रूप लेकर गुजरात तट पर पहुंचने वाला है। इसके कारण से तेज बारिश और हवा आएंगी वैसे तो कुछ राज्यों में मौसम बारिश का हो रखा है और ठंडी हवाएं चल रही है। इसके चलते मुंबई में NDRF की तीन टीमों को तैनात किया गया है और 5 टीमें अलर्ट पर हैं। दादर, वर्ली, लोअर परेल, माटुंगा और माहिम सहित मुंबई के पश्चिमी उपनगरीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है।

सरकार ने 5 जगह अस्थाई शेल्टर होम बनाए गए हैं। बता दें कि मुंबई में वर्ली सी फेस, शिवाजी पार्क, मरीन ड्राइव पर समुद्र तट पर ऊंची लहरें उठ रही हैं। मौसम विभाग ने  जानकारी दी है कि गुजरात में 23 साल बाद इतना भयानक तूफान आ रहा है। गुजरात इससे पहले 9 जून 1998 में कच्छ जिले के कांडला में इतना भयानक तूफान आया था। इसमें 1173 लोगों की मौत हुई थी और 1774 लोग लापता हो गए थे। अब साल 2021 में एक बार फिर ऐसा तुफान आ रहा है।
 


मौसम विभाग ने बताया कि तूफान टाउते आज दोपहर 3 बजे तक गुजरात के पोरबंदर तट से टकरा सकता है। इसके बाद दोपहर 3 से शाम 6 बजे के बीच तूफान पोरबंदर और महुवा (भावनगर) के बीच से गुजरेगा। इसकी गति 175 किलोमीटर प्रतिघंटे तक हो सकती है। तूफान के अलर्ट के बाद मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के कोविड सेंटर से 500 मरीजों को दूसरी कोविड सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया है। इससे प्रभावित 1.5 लाख लोगों को सुरक्षित पहुंचा दिया गया है।