चक्रवाती तूफान ‘टाउते’ अपना कालराल रूप ले रहा है। धीरे धीरे अब और भी ताकतवर होता ही जा रहा है। चक्रवात टाउते पूर्वी मध्यप अरब सागर से 13 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ भारत की ओर बढ़ गया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जानकारी देते हुए कहा कि अगले 12 घंटों के दौरान इसके बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है।


मौसम पूर्वानुमान विभाग के मुताबिक इसके 18 मई को गुजरात तट पार करने की संभावना है। दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘टाउते’ से निपटने की राज्यों, केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों की तैयारियों का जायजा लेने के लिए महत्वपूर्ण बैठक की है। टाउते से प्रभावित इलाकों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने तथा बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल जैसी जरूरी सेवाओं का प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।


प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमें गुजरात के गिर सोमनाथ, अमरेली, पोरबंदर, द्वारका, जामनगर, राजकोट, कच्छ, मोरबी, सूरत, गांधीनगर, वलसाड, भावनगर, नवसारी, भरूच और जूनागढ़ जिलों में तैनात हैं। बता दें कि टाउते विकराल रूप ले चुका है तो जो इलाके इससे प्रभावित होने वाले हैं वह पहले से ही सावधान हो जाए क्योंकि यह बहुत ही खतरनाक और तेज रफ्तार से आ रहा है।