लैंडफॉल बनाने के बाद, रविवार देर शाम चक्रवाती तूफान 'गुलाब' 26 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम की ओर बढ़ गया और उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश पर केंद्रित हो गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अपने मध्यरात्रि बुलेटिन में कहा कि सिस्टम सेंटर ने शाम 7.30 से 8.30 बजे के दौरान समुद्र तट को पार किया, जबकि पूरे तूफान केंद्र की लैंडफॉल प्रक्रिया समुद्र तट को पार कर गई और उसके बाद कुछ घंटों तक जारी रही। लैंडफॉल प्रक्रिया रात 10.30 बजे के बाद पूरी हुई।

हालांकि, सिस्टम अपनी चक्रवाती तूफान की तीव्रता को बनाए रखता है और इसके आगे पश्चिम की ओर बढऩे और अगले 4-5 घंटों के दौरान एक गहरे दबाव में कमजोर होने की संभावना है।

दक्षिण छत्तीसगढ़ में सोमवार को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा के साथ भारी से बहुत भारी और अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा (20 सेमी से अधिक) होने की संभावना है। 

आईएमडी ने कहा कि ओडिशा, तेलंगाना और विदर्भ में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा और तटीय पश्चिम बंगाल और उत्तरी छत्तीसगढ़ में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है।