भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने हाल ही में एक अपडेट में बताया कि चक्रवात आसनी सोमवार 21 मार्च की शाम बंगाल की खाड़ी से टकराएगा। इसके बाद ये अंडमान और निकोबार द्वीप के उत्तर और पूर्व की ओर आगे बढ़ेगा। मौसम विभाग के अनुसार उत्तरी अंडमान सागर और उससे सटे क्षेत्र पर बना गहरा दबाव के चलते चक्रवाती के और तेज होने के की संभावना है। 

ये भी पढ़ेंः युद्घ के बीच जासूस महिला ने खोल दी पोल, रूसी SPY को दी गई मर्दों को वश करने की ट्रेनिंग


ऐसे में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में सघन दबाव के चलते बुधवार 23 मार्च तक बहुत तेज बारिश और तेज हवाएं चलने की संभावना है। आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहा कि म्यांमार तट की ओर बढ़ने से तेज हवा और भारी बारिश होगी। भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, आईएमडी ने सभी समुद्री क्षेत्रों के लिए कड़ी चेतावनी दी है जिसमें बंगाल की पूर्व-मध्य खाड़ी और अंडमान सागर शामिल हैं।

ये भी पढ़ेंः मुस्लिम महिला को BJP को वोट देना पड़ा भारी, पति ने दी इतनी खौफनाक सजा


बुधवार 23 मार्च की तड़के तक तूफान के म्यांमार तट को पार करने की संभावना है। आईएमडी के चक्रवात अपडेट में कहा गया है कि अगले 48 घंटों के दौरान चक्रवात अंडमान द्वीप समूह के साथ-साथ म्यांमार तट की ओर लगभग उत्तर की ओर बढ़ेगा। अपडेट के अनुसार, सोमवार शाम तक हवा की गति तेज हो जाएगी और मंगलवार 22 मार्च तक अंडमान और निकोबार द्वीप और बंगाल की पूर्व-मध्य खाड़ी के पास 65 से 75 किलोमीटर से 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के बीच हवा चलेगी।