देश के 5 राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में खराब प्रदर्शन के बाद रविवार को दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक आयोजित की गई। इस बैठक की अध्यक्षता पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की। इस बैठक में फिलहाल सोनिया गांधी के नेतृत्व में ही आगे बढ़ने का फैसला लिया गया।

कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने बैठक की जानकारी देते हुए कहा कि सभी ने सोनिया गांधी के नेतृत्व में पार्टी को आगे बढ़ाने पर मुहर लगाई है। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी कहा कि हमें सोनिया गांधी के नेतृत्व पर भरोसा है। लेकिन कई पार्टी नेताओं ने एक बार फिर राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग जोर-शोर से उठाई।

यह भी पढ़ें : धांसू बाइक चलाते हैं अरूणाचल प्रदेश के CM Pema Khandu, देखें तस्वीरें

CWC की बैठक के बाद कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला और डीके शिवकुमार ने राहुल को पार्टी की जिम्मेदारी सौंपने की मांग जोर-शोर से उठाई। रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी का हर कार्यकर्ता चाहता है कि राहुल गांधी कांग्रेस का नेतृत्व करें। कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा कि मेरे जैसे करोड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता चाहते हैं कि राहुल गांधी तत्काल पूर्णकालिक तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष का पद ग्रहण कर लें।

पांच राज्यों में मिली करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस अप्रैल में चिंतन शिविर का आयोजन करने जा रही है। इसके बाद 20 अगस्त को कांग्रेस पार्टी में आंतरिक चुनाव होने वाले हैं, जिसके आधार पर ही अगले पार्टी अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : रूस-यूक्रेन छोड़ो, भारतीयों को देश के ही इस राज्य में जाने के लिए लेना पड़ता है वीजा, जानिए क्यों

CWC की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं से सवाल किया कि क्या गांधी परिवार की वजह से पार्टी कमजोर हो रही है। उन्होंने कहा कि अगर आप लोगों को ऐसा लगता है तो गांधी परिवार किसी भी प्रकार का त्याग करने के लिए तैयार है। सोनिया ने आगे कहा कि हमारा पहला मकसद पार्टी को मजबूत करना है। इसके लिए वे किसी प्रकार का त्याग (पद छोड़ने संबंध में) करने को तैयार हैं।