अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को ओकलाहोमा के तुलसा में आयोजित चुनाव अभियान रैली को संबोधित करते हुए फिर से विवादास्पद बयान देते हुए कहा कि उन्होंने अधिकारियों को कोरोनो वायरस (कोविड-19) संक्रमण के लिए जांच परीक्षण धीमा करने का आदेश दिया है ताकि पंजीकृत मामलों की संख्या कम किया जा सके। ट्रंप ने वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बाद अपनी पहली चुनाव रैली में अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, 'जांच परीक्षण एक दोधारी तलवार के समान है।'


उन्होंने कहा कि अब तक दो करोड़ 50 लाख लोगों का कोरोना जांच कराया जा चुका है। रैली में मौजूद लोगों ने सामाजिक दूरी बनाये रखने के नियमों का खुला उल्लंघन किया तथा उन्होंने काफी कम संख्या में सुरक्षा उपकरण पहन रखे थे। राष्ट्रपति ने उत्साही भीड़ को संबोधित करते हुए कहा, 'इसकी एक बुरी बात यह है कि जब आप उस हद तक परीक्षण करते हैं तो आप अधिक लोगों या अधिक मामलों को खोजने जा रहे हैं। इसलिए मैंने अपने लोगों से कहा कि कृपया परीक्षण को धीमा कर दें।'


ट्रंप के बयान के विपरित महामारी विज्ञानी, सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ और चिकित्सा कार्यकर्ता सभी सहमत हैं कि संक्रमण के प्रसार का मुकाबला करने के लिए परीक्षण महत्वपूर्ण कारक है जिसके बिना वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के उपाय बहुत कम प्रभावी हैं। रैली की शुरुआत के चंद घंटे पहले ही ओकलाहोमा में कोरोना वायरस के सर्वाधिक नये मामले सामने आये थे। इससे पहले ट्रंप के चुनाव अभियान रैली से जुड़े छह लोगों के कोरोना से संक्रमित पाये जाने के बाद रैली के आयोजन को लेकर संशय उत्पन्न हो गया था।


गौरतलब है कि विश्व की महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना से अब तक 2255119 लोग संक्रमित हो चुके हैं तथा 1,19,719 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। देश में 617460 लोग स्वस्थ भी हुए हैं।