नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के नए शपथ ग्रहण मंत्रियों में से लगभग आधे के खिलाफ आपराधिक मामले हैं, जबकि 87 प्रतिशत मंत्री करोड़पति हैं। एक रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आयी है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्र्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, कुल मंत्रियों में से 22 मंत्रियों (49 प्रतिशत) के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। जबकि 20 मंत्रियों यानी 44 प्रतिशत के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक 45 मंत्रियों में से 39 मंत्री यानी 87 फीसदी करोड़पति हैं। वहीं, 45 मंत्रियों की औसत संपत्ति नौ करोड़ रुपए हैं। इसके साथ ही तिलोई विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के विधायक मयनकेश्वर शरण ङ्क्षसह की संपत्ति 58.07 करोड़ रुपए है। रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब 80 प्रतिशत मंत्री स्नातक और उससे आगे की शिक्षा ग्रहण कर चुके हैं। जबकि 20 प्रतिशत मंत्रियों की शैक्षणिक योग्यता आठवीं से 12वीं पास है। 

वहीं, 20 मंत्रियों की उम्र 30 से 50 साल के बीच तथा 25 मंत्रियों की उम्र 51 से 70 वर्ष के बीच है। योगी मंत्रिमंडल में कुल मंत्रियों में पांच महिलाओं को स्थान मिला है। योगी मंत्रिमंडल में 52 मंत्रियों में से 21 उच्च वर्ग, 20 अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी), नौ दलित, एक सिख और एक मुस्लिम चेहरे को शामिल किया गया है। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अन्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई थी।