कोरोना अपनी चरम सीमा पर चल रहा है। आए दिन  कोरोना से इतनी मौते हो रही है कि श्मशान में लाशों को जलाने के लिए 1-2 किलोमीटर लंबी लाइन लगानी पड़ रही है। कब्रस्तान भी लाशों के दफ्नाने से भर चुके हैं। इसी महामारी में लाशों की अंतिम विदाई का भी काल पड़ गया है। इसी कड़ी में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सदस्य मनीष तिवारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बात की है।

तिवारी ने राष्ट्रपति से आग्रह किया कि देश में कोरोना महामारी से पैदा हुए हालात पर चर्चा के लिए संसद का दो दिवसीय आपात सत्र बुलाया जाना चाहिए। तिवारी ने वीडियो जारी कर बताया है कि ‘अस्पतालों में बेड नहीं है, ऑक्सीजन नहीं है और न ही ठीक तरीके से टीकाकरण हो रहा है। आज की परिस्थिति ऐसी बन गई है कि श्मशान और कब्रस्तान भी भर चुके हैं ’।

देश में कोरोना के कारण हालात बहुत ही खराब होते जा रहे हैं और मामलों की संख्या 1,50,61,919 हो गई है। कई राज्यों के इलाकों में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। इसी तरह से  पीएम मोदी ने भी आज कोरोना पर मुख्यमंत्रियों से बैठक की है। नेता तिवारी ने आग्रह किया कि ‘‘भारत के राष्ट्रपति से मांग करता हूं कि आप अपने अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए तत्काल संसद का दो दिवसीय आपात सत्र बुलाइए ताकि सारी परिस्थिति को संज्ञान में लिया जा सके और एक व्यापक रणनीति तैयार की जा सके ’।