अगर आप ज्यादातर पेमेंट ऑनलाइन करते हैं तो आपके लिए जरूरी खबर है। दरअसल जल्द ही क्रेडिट और डेबिट कार्ड से पेमेंट करने के लिए आपको CVV नंबर के साथ-साथ 16 डिजिट के कार्ड नंबर भी डालने होंगे। RBI कस्टमर्स के साथ हो रहे ऑनलाइन फ्रॉड को रोकने के लिए ये कदम उठाने जा रही है। साथ ही इससे उन बड़ी टेक कंपनियों पर भी लगाम लगेगी जो कस्टमर्स का डेबिट- क्रेडिट कार्ड का डेटा स्टोर कर लेती हैं।

RBI के नए नियमों के बाद ऐसी कंपनियां अपने सर्वर में कस्टमर्स के क्रेडिट-डेबिट कार्ड का डेटा स्टोर नहीं कर सकेंगी। अब कस्टमर को किसी भी ऑनलाइन पेमेंट करते वक्त अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड की पूरी डिटेल्स डालनी होंगी। मतलब अब सिर्फ सीवीवी नंबर से काम नहीं चलेगा। इसके बिना कोई ट्रांजेक्शन नहीं पाएगा। इसके जरिए कंपनियां कस्टमर्स का डेटा स्टोर नहीं कर सकेंगे और इससे सिक्योरिटी बढ़ेगी।

ये नए नियम अगले साल जनवरी से लागू किए जा सकते हैं। हालांकि पहले RBI ये नियम इस साल जुलाई से लागू करना चाहती थी, लेकिन इसके एग्क्यूशन में आ रहीं परेशानियों के चलते ऐसा नहीं हो पाया। दूसरी तरफ बैंक भी इसके लिए अभी पूरी तरह से तैयार नहीं हो पाए। इन्हीं को देखते हुए अब इन नियमों को जनवरी 2022 से लागू किया जाएगा।

वहीं RBI के इन नए नियमों को लेकर एक्सपर्ट्स का मानना है कि इससे ऑनलाइन पेमेंट में लगने वाला समय जरूर बढ़ेगा लेकिन ये पहले से ज्यादा सेफ हो जाएगा। इन रूल्स के बाद ऑनलाइन शॉपिंग करते समय कस्टमर्स को अपने क्रेडिट या फिर डेबिट कार्ड के पूरे 16 डिजिट डालने होंगे। साथ ही सीवीवी, एक्सपायरी डेट जैसी डिटेल्स भी खुद ही एंटर करनी होगी।