मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की त्रिपुरा इकाई ने राज्य के पुलिस महानिदेशक से पार्टी कार्यालयों की तलाशी रोके जाने और उनकी पर्याप्त सुरक्षा की मांग की है। वरिष्ठ माकपा नेता एवं राज्य के पूर्व मंत्री बादल चौधरी, माकपा की प्रदेश इकाई के प्रवक्ता गौतम दास, पूर्व सांसद नारायण कार और सांसद शंकर प्रसाद दत्ता के पुलिस महानिदेशक को सौंपे गये हस्ताक्षरित ज्ञापन में कहा गया है कि पार्टी कार्यालय का परिचालन संवैधानिक एवं लोकतांत्रिक अधिकार है और पुलिस की यह जिम्मेदारी है कि वह राजनीतिक दलों की लोकतांत्रिक गतिविधियों को संरक्षण प्रदान करे। इसके साथ ही वह राजनीतिक दलों के कामकाज को सुचारु तरीके से चलने देने में सहयोग करें।

माकपा नेताओं ने आरोप लगाया कि पुलिस राज्य में सत्तारूढ़ नये दल के इशारे पर उनके कार्यालयों पर छापे डाल रही है और तलाशी अभियान चला रही है। लोकतंत्र ने यह बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि चुनावों की घोषणा के बाद से राज्य में 96 माकपा कार्यालय जला दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि 367 माकपा कार्यालयों में तोडफ़ोड़ और लूट की गयी। भाजपा कार्यकर्ताओं ने 233 माकपा कार्यालयों पर कब्जे कर लिये हैं और माकपा कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों के 1829 घर जला दिये गये हैं।

माकपा ने पुलिस महानिदेशक से पार्टी कार्यालयों, ट्रेड यूनियन कार्यालयों पर छापे और तलाशी अभियान रोकने की मांग की है। पार्टी ने अपने नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की भी मांग की है। पार्टी ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की धमकियों के मद्देनजर माकपा कार्यकर्ताओं को अपने निवास स्थान छोडऩे पड़े हैं। त्रिपुरा भाजपा उपाध्यक्ष सुबल भौमिक ने इन आरोपों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा की ऐसी शरारतपूर्ण हरकतों में कोई भूमिका नहीं है।

उन्होंने कहा कि भाजपा न तो ऐसी किसी करतूत में शामिल है और न ही ऐसी हरकतों में शामिल किसी व्यक्ति का समर्थन करती है। मुख्यमंत्री विप्लव देव ने कार्यभार संभालने के पहले दिन ही पुलिस से स्पष्ट तौर पर कह दिया था कि अपराधियों के साथ कड़ाई के साथ पेश आना चाहिए। भौमिक ने कहा,  मैं पुलिस ने आग्रह करता हूं कि कानून तोडऩे वालों के विरुद्ध कार्रवाई करे। मैं फिर कहता हूं कि भाजपा ऐसी हरकतों में शामिल नहीं है। यह माकपा कैडर की पहले की दुश्मनी के कारण हुई घटनायें हो सकती हैं और भाजपा को बदनाम किया जा रहा है।