दिल्ली में 18-44 आयु वर्ग के लिए कुछ टीकाकरण केंद्रों को बुधवार से अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है। आम आदमी पार्टी (आप) की नेता आतिशी ने बुधवार को कहा कि दिल्ली को 11 मई को कोविशील्ड टीके की 2.67 लाख से अधिक डोज मिलीं, लेकिन उसके पास कोवैक्सीन का स्टॉक पूरी तरह खत्म हो चुका है।

आतिशी ने टीकाकरण बुलेटिन जारी करते हुए कहा कि सुबह में उपलब्ध कोवैक्सीन की करीब 16,000 खुराकें 44 केंद्रों पर दी गईं। बुधवार की शाम के बाद से इन केंद्रों को भी बंद कर दिया जाएगा। आतिशी ने उम्मीद जताई कि केंद्र सरकार हस्तक्षेप करेगी और 18-44 आयु वर्ग के लिए कोवैक्सीन की डोज उपलब्ध कराएगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही इस वर्ग के लाभार्थियों को कोवैक्सीन की दूसरी डोज देने का समय आ जाएगा।

आतिशी ने कहा कि 18-44 आयु वर्ग के लोगों के लिए कोविशील्ड की 4.18 लाख डोज हैं। ये नौ दिन तक चलेंगी। उन्होंने कहा कि राजधानी को मंगलवार शाम को कोविशील्ड की 2.67 लाख से अधिक डोज प्राप्त हुईं।

'आप' विधायक ने कहा कि हालांकि, बुधवार शाम के बाद से 18-44 आयु वर्ग के लिए कोवैक्सीन की कोई डोज नहीं बचेंगी और ऐसे सारे केंद्रों को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया जाएगा।

दिल्ली के पास 45 वर्ष से अधिक के लोगों, स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स के कर्मियों के लिए फिलहाल कोवैक्सीन की चार दिन की और कोविशील्ड की तीन दिन की डोज हैं। उन्होंने कहा कि मंगलवार को शहर में 1.28 लाख डोज दी गईं।

बुलेटिन के मुताबिक, 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से दिल्ली में सभी श्रेणियों में लाभार्थियों को टीकों की कुल 41.64 लाख डोज दी जा चुकी हैं।

दिल्ली को अब तक 18-44 आयु वर्ग के लिए कोरोना वायरस टीके की 8.17 लाख डोज प्राप्त हो चुकी हैं और 45 वर्ष से ऊपर के लोगों, स्वास्थ्य कर्मियों तथा फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए 43 लाख से अधिक डोज मिल चुकी हैं। स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 470 केंद्रों पर टीके दिए गए हैं, जबकि 18-44 आयु वर्ग के लाभार्थियों को 394 केंद्रों पर टीके लगाए गए हैं।