भारतीय वायु सेना ने बताया कि असम के तेजपुर में क्रैश हुए सुखोई एयरक्राफ्ट Su-30MKI में तकनीकी खराबी थी जिसके कारण यह दुर्घटना हुई। इसके साथ ही मामले की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्‍वायरी ने आदेश दे दिए हैं।


ज्ञात हो भारतीय वायुसेना ने अपने आधिकारिक ट्विवर अकाउंट से ये जानकारी दी है कि, ‘8 अगस्‍त की रात को ट्रेनिंग मिशन 01 के दौरान तकनीकी खराबी के कारण Su-30MKI एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। हालांकि एयरक्राफ्ट में सवार दोनों पायलट सुरक्षित निकल गए। कोर्ट ऑफ इंक्‍वायरी ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।’



गुरुवार को अपने बयान में भारतीय वायुसेना ने बताया, आज शाम Su-30 एयरक्राफ्ट अपने रुटीन ट्रेनिंग मिशन पर था। कोर्ट ऑफ इंक्‍वायरी मामले के कारणों का पता लगाएगी।


आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना (IAF) का एक सुखोई-30 लड़ाकू विमान उत्तरी असम में तेजपुर के समीप गुरुवार की शाम दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। आधिकारिक प्रवक्ता ने एक बयान में बताया कि विमान नियमित प्रशिक्षण मिशन पर था।

 

गिरने के बाद लगी आग

आपको बता दें कि विमान ने तेजपुर में आईएएफ के ठिकाने से उड़ान भरी थी और इसके बाद यहां से पांच किलोमीटर के दायरे में एक धान के खेत में गिर गया। विमान के गिरने के बाद उसमें आग लग गयी। आईएएफ के अग्निशमन दल तथा स्थानीय प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और आग बुझाने का काम शुरू किया। 

दोनों पायलट हुए जख्मी

घटना के बाद विमान के दोनों पायलट बाहर निकलने में सफल रहे, हालांकि वे जख्मी हो गये। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं दूसरी ओर प्रवक्ता के मुताबिक कोर्ट ऑफ इन्कवायरी घटना के कारणों का पता लगायेगी।