शादी के बाद हनीमून पर तो सब जाते हैं, लेकिन एक कपल का स्पेशल 'फैमिलीमून' आपको हैरान कर रहा है। साल 2019 में शादी के बाद रॉस और सारा बैरेट अपने बेटे और कुत्ते के साथ विदेश में हनीमून मनाने निकल पड़े थे। 2 साल का ये यादगार हनीमून कपल ने एक वैन के जरिए 13 लाख रुपए से ज्यादा खर्चकर सेलिब्रेट किया।

इस दौरान रॉस और सारा ने अपना घर करीब 81 हजार रुपए के हिसाब से किराए पर चढ़ा दिया और अपने बेटे रिली और ब्लैक लैब्राडॉर के साथ अपनी कैम्पर वैन में ही शरण ले ली। कपल ने ये वैन अपने हनीमून से 5 साल पहले 2014 में खरीदी थी। इस दौरान परिवार ने पूरे यूरोप समेत फ्रांस, स्विट्जरलैंड, इटली, स्पेन, तुर्की और बुल्गारिया समेत कई देशों की सैर की।

कपल अब अपने घर इंग्लैंड वापस लौट आया है। अब उनका बेटा पांच साल का हो गया है जो उस वक्त तीन साल का था। घर वापसी के बाद परिवार अपने एडवेंचरस ट्रिप को बहुत मिस कर रहा है। परिवार ने अपने पुराने लाइफस्टाइल को पूरी तरह से त्यागकर नए घुमक्कड़ी अंदाज को अपनाने की योजना बनाई है।

रॉस पहले एक रॉयल मरीन कमांडो थे। उन्होंने बताया कि इस फैमिलीमून पर उनका हर दिन रोमांचक था। हर बार जब हम अपनी वैन का दरवाजा खोलते तो एक नई जगह पर होते थे। हमें अंदाजा ही नहीं रहता था कि आगे क्या होने वाला है।

रॉस ने बताया कि उनके परिवार ने मिलकर यह फैसला किया था कि वे किसी बड़े एडवेंचरस ट्रिप पर निकलना चाहते हैं। हम अपने परिवार के साथ एक क्वालिटी टाइम भी बिताना चाहते थे। इस दौरान कपल ने अपने बच्चे की पढ़ाई से भी समझौता नहीं किया। उन्होंने होमस्कूलिंग के जरिए बच्चे को पढ़ाया।

इस ट्रिप पर रॉस की फैमिली का स्लोगन था- 'एवरी-डे इज़ ए सैटर्डे' यानी हर दिन एक शनिवार है। दरअसल शादी के बाद रॉस ने अपनी जॉब छोड़ दी। अपना घर भी उन्होंने किराए पर दे दिया था और वे फैमिली के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड करने विदेश यात्रा पर निकल पड़े।

रॉस कहते हैं, नौकरी छोड़ने का फैसला काफी अहम था, क्योंकि मेरे पास एक सिक्योर इनकम थी। लेकिन जब आप किसी पेशे में होते हैं तो नौकरी के साथ इतना बड़ा कदम उठाना आपके लिए आसान नहीं होता है। इसलिए शादी के बाद मैंने अपना नोटिस दिया और हम दो साल के स्पेशल हनीमून पर निकल पड़े।

रॉस ने बताया कि हमारे इस फैसले से हर कोई हैरान था। सब कहते थे कि हम पागल हो चुके हैं और हम कुछ हफ्तों में ही हार मानकर वापस लौट आएंगे। लोगों की ऐसी प्रतिक्रियाओं ने मुझे थोड़ा परेशान जरूर किया था। मैंने कई बार खुद से यह सवाल किया कि क्या हम सही कर रहे हैं। फिर जब मैंने सारी चीजों को फिगर आउट किया तब मुझे वाकई लगने लगा कि सब ठीक है।

आज हर कोई इसके फायदे देख रहा है। हमने पूरे दो साल अपनी जिंदगी के एक-एक मिनट को खुलकर जिया है। रॉस कहते हैं, 'आज मुझे लगता है कि वो हमारी जिंदगी का सबसे अच्छा फैसला था।' इस बारे में रॉस की पत्नी सारा ने कहा, 'दो साल के इस फैमिलीमून को लेकर लोग हमसे कई तरह के सवाल पूछते थे। वो कहते थे तुम लोग पागल हो गए हो। रॉस अपनी सिक्योर जॉब छोड़ रहा है। तुम लोग क्या करने जा रहे हो।

सारा ने आगे कहा, 'लोगों को शायद लगता था कि हमने इस बारे में बिल्कुल नहीं सोचा होगा। हमारी वैन बहुत ज्यादा छोटी थी। हमें इसके अंदर ही सोना पड़ता था और नहाने या खाना पकाने के लिए वैन से बाहर निकलना पड़ता था।' सारा ने कहा कि महामारी के दौरान ये हमारे अनुभव का सबसे अच्छा हिस्सा था। लॉकडाउन में अगर हम घर होते तो कैद होकर रह जाते। इसकी बजाए हमने अपना समय समुद्र के खूबसूरत तटों पर ​बिताया।

सारा ने बताया कि अपने घर से जो किराया वो वसूल कर रहे थे, उससे फोन बिल, वैन इंश्योरेंस, व्हीकल टैक्स, वैन के फ्यूल (ईंधन), फूड, आइस्क्रीम, बीयर, वाइन और घूमने-फिरने के तमाम खर्चे पूरे हो जाते थे। 2019 में शादी से पहले भी रॉस और सारा दो हफ्तों के लिए एक यॉट पर रवाना हुए थे।

सारा ने बताया कि दो साल के इस हनीमून पर उन्हें तुर्की सबसे अच्छा देश लगा। यहां का नजारा अद्भुत था। तुर्की में समुद्र के किनारे टहलते हुए सुंदर जंगली कछुए हमारे आस-पास मंडराते थे। सड़क से इन कछुओं को हटाने के लिए रॉस को कई बार वैन से नीचे उतरना पड़ता था।

वहीं, रॉस ने बताया कि तुर्की में डॉलफिन के साथ स्वीमिंग करना उनके सबसे यादगार लम्हों में से एक है। रॉस ने कहा, उस दिन मेरा जन्मदिन था और मैं डॉलफिन के साथ पानी में तैर रहा था। जबकि सारा और रिली डॉलफिन गाइड के साथ बैठे थे। रिली डॉलफिन के पास बॉल फेंक रहा था। वो लोग डांस कर रहे थे और मुझे फ्लाइंग किस दे रहे थे।