भारतीय डाक विभाग ने कोलकाता के प्रसिद्ध जनरल पोस्ट ऑफिस भवन में एक नया कैफे खोला है. सिउली (केसर और सफेद रंग का एक लोकप्रिय ट्रिंकेट के आकार का फूल) नाम के साथ इस पार्सल कैफे का उद्घाटन इस सप्ताह की शुरुआत में की गई. यह कैफे फिलाटेलिक एंसिलरी शॉप यानी कि डाक टिकट जारी करने वाले संस्थान के रूप में काम करेगा. 

यह भी पढ़े : Weekly Horoscope (21 मार्च से 27 मार्च): इस सप्ताह मेष-कन्या समेत इन 5 राशि वालों को मिलेगी बड़ी कामयाबी लेकिन सेहत का रखना होगा ख्याल

भारत में यह अपनी तरह का पहला पोस्ट ऑफिस है जिसमें कैफे का आनंद लिया जा सकता है. चाय-कॉफी और नाश्ते के साथ डाक विभाग का काम कराया जा सकता है. भारत में डाक विभाग के पास दफ्तर के तौर पर बहुत जगह है जहां इस तरह के प्रयोग किए जा सकते हैं. कैफे से डाक विभाग को कमाई भी होगी और लोगों का काम आसान होगा. थकान मिटाकर वे अपने सभी काम निपटा सकेंगे.

भारत का यह पहला पोस्ट ऑफिस कैफे सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक खुला रहेगा और इन-हाउस कैटरिंग विभाग द्वारा चलाया जाएगा. पहले जीपीओ हॉल के एक कोने में एक छोटा स्टाफ कैंटीन चलाता था, जबकि हॉल के बाकी हिस्सों का इस्तेमाल तकिये, कोस्टर, पीतल की प्लेट, मग और टिकटों सहित डाक टिकट की सहायक सामग्री के लिए एक काउंटर के रूप में किया जाता था. 

यह भी पढ़े : CERT-In ने Google Chrome इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए जारी की चेतावनी , यूजर्स हो जाएं ALERT

हालांकि ये आइटम अभी भी इन-हाउस टीम द्वारा कैफे में बिक्री के लिए जारी रहेंगे. कोलकाता क्षेत्र के पोस्टमास्टर-जनरल नीरज कुमार ने बताया यह कैफे सजावटी नहीं है, इसमें पार्सल बुकिंग काउंटर हैं जो पूरी तरह काम करते हैं. कैफे चलाने के पीछे असली विचार मौजूदा पीढ़ी के साथ हमारे संबंधों को मजबूत करने का है. उन्होंने कैफे को लोगों की बेहतरी की दिशा में एक कदम बताया.

कैफे का मुख्य आकर्षण इसका चमकीले रंग का लकड़ी का फर्नीचर और 1,450 वर्ग फुट में लगभग 34 लोगों के लिए सोफा सीट है. प्रत्येक टेबल सेटिंग से पर्याप्त दूरी भी बनाए रखी जाएगी. पश्चिम बंगाल सर्कल के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल जे चारुकेसी ने बताया कि पिछले साल नई दिल्ली में इस बारे में बात हुई थी. उन्होंने कहा कि दिल्ली की बैठक शहर में पार्सल व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए आयोजित की गई थी और यह विचार उन्होंने अधिकारियों के सामने रखा था.

यह देश में पहली बार है जब भारतीय डाक द्वारा पैकेजिंग और एक दिन में डिलिवरी की सुविधा दी जाएगी. इसके माध्यम से ग्राहक के पार्सल को अब निजी कंपनियों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा जो अधिक कीमत वसूलती हैं. रिपोर्टों से पता चलता है कि शहर भर में छह डाकघरों में एक ही दिन की डिलीवरी सेवा शुरू की गई है, जो कि जीपीओ के अलावा पार्क स्ट्रीट, अलीपुर, बुराबाजार, एस्प्लेनेड और दमदम हैं. सेवा का लाभ उठाने के लिए ग्राहक को दोपहर तक पार्सल पोस्ट करना होगा और जीपीओ के इलाके में ही इसे भेजा जाना चाहिए. पार्सल उसी दिन दिए गए पते पर पहुंचा दिया जाएगा.

यह भी पढ़े : एशिया कप टी-20 : भारत और पाकिस्तान बीच फिर होगा महासंग्राम, टीम इंडिया ने सात बार जीता है खिताब


कोलकाता के सिउली कैफे में गंगा वाटर, चाय-कॉफी और हॉट केक का आनंद लिया जा सकता है. साथ में डाक डिकटों का इतिहास अलग-अलग तस्वीरों में देख सकते हैं. इंडिया पोस्ट वेबसाइट के अनुसार भारत में 154,965 डाकघर (31.03.2017 तक) के साथ दुनिया में सबसे बड़ा डाक नेटवर्क है. इंडिया पोस्ट की एक वार्षिक रिपोर्ट से पता चलता है कि पिछले कुछ वर्षों में मेल वॉल्यूम में गिरावट आई है, लेकिन पार्सल डिलिवरी बढ़ी है.