गैर-सरकारी संगठन असम पब्लिक वर्क्स (एपीडब्लयू) के प्रमुख अभिजीत शर्मा द्वारा सिंचाई विभाग में व्यापक घोटाला होने के आरोपों को विभागीय मंत्री भवेश कलिता ने सिरे से खारिज किया है। मंत्री ने आरोपों को साबित करने की चुनौती दी और कहा कि अगर ऐसा नहीं कर पाए तो वे एपीडब्ल्यू प्रमुख के खिलाफ मानहानि का केस ठोकेंगे।

सोमवार को दिसपुर स्थित अपने सरकारी आवास में मंत्री भवेश कलिता ने उन पर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया और कहा कि अभिजीत शर्मा पहले तो यह साबित करें कि उनका (मंत्री) कोई साला है जो सिंचाई विभाग में नियुक्ति के नाम पर धन उगाही कर रहा है। इसके अलावा अपने आरोपों में एपीडब्ल्यू प्रमुख ने जिन तीन योजनाओं में सरकारी राशि का घपला होने का आरोप लगाया है उन योजनाओं को प्रशासनिक मंजूरी 2012-13 में मिलीं थी और 2013-14 में काम शुरू हुआ था।

15 करोड़ रुपए के लगाए गए घोटाले के आरोपों में सच्चाई नहीं होने की बात कहते हुए मंत्री ने बताया कि उस समय के अधिकारी रिटार्यड हो चुके हैं। उक्त योजनाओं का काम फिर शुरू किया गया है। तब से ये योजनाएं यूं ही पड़ी हुई है। अभी योजनाओं के लिए केंद्र से धन मिला है तो अधूरे काम पूरे किए जाएंगे।