होजाई जिले के धुलपुखरी विकास प्रखंड के कनिष्ठ अभियंता जयंत गोस्वामी को रिश्वत लेने के मामले में गुवाहाटी की विशेष अदालत ने दोषी पाया है। अदालत ने आरोपी को चोरी वर्ष की कारावास सहित 40 हजार रुपए का जुर्माना देने की सजा सुनाई मालुम हो कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्माण बिल पास करने की एवज में ओरापी ने वर्ष 2016 में बिरेंद्र प्रसाद मल्ला से 10 हजार रूपए की मांग की थी।

जिसके बाद मल्ला ने इसकी शिकायत भ्रष्टाचार रोधक एवं निगरानी प्रकोष्ठ के अधिकारियों से कर दी थी। अधिकारियों की एक टीम ने दर्ज शिकायत के आधार पर एसीबी मुख्यालय में केस संख्या 6/16 भादवि की धारा 7/13(1)डी(2)/13(2) प्रिवेंशन एंड करप्शन कानून1988 के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को 5 जुलाई 2016 की दोपहर करीब1.30 बजे रंगे हाथों गिरफ्तार किया। इसी मामले में गुवाहाटी की विशेष अदालत ने घूसखोर अधिकारी को सजा सुनाई।